सरोकार की मीडिया

test scroller


Click here for Myspace Layouts

Sunday, September 27, 2015

ललितपुर समाचार, 28 सितंबर,2015 दैनिक सरोकार की मीडिया

ललितपुर समाचार, 28 सितंबर,2015 दैनिक सरोकार की मीडिया


उपास्य और उपासक के दोनों हाथों में बुद्धि-सिद्धि के लड्डू : प्रो.शर्मा
मोदकप्रिय मंगलदाता श्रीगणेश का स्मरण
ललितपुर। श्रीगणेश चतुर्थी से अनंत चतुदर्शी तक चलने वाले श्रीगणेशोत्सव के समापन अवसर पर श्री जगदीश मंदिर सभागार में आयोजित अभ्युदय की सत्संग सभा को संबोधित करते हुये प्रो.भगवत नारायण शर्मा ने कहा कि देव मण्डली में श्रीगणेश का प्रथम स्थान है। इसका कारण है कि गणपति गुणों में पुंज हैं। भारतीय साहित्य और कला तथा उनके प्रतीकत्व का बड़ा सटीक चित्रण किया गया है। उनकी असाधरण वीरता और साहस के कारण उन्हें शिवगणों में नायक के पद से सुशोभित किया गया है। उनके आयुद्यों में परशु, त्रिशूल, असि, अंकुश, पाश तथा नाग हैं। मूषक उनका वाहन है, जिसे शिवजी ने उन्हें उधार दे दिया था, लेकिन मांगा कभी नहीं। मूषक आयु को धीरे-धीरे नष्ट करने वाले, आयु के आधार को नष्ट करने वाला है। श्रीगणेशजी को वाहन रूप में मूषक प्रदान करने वाले शिवजी का तात्पर्य कदाचित यही है कि जीवन के आधार अन्न को नष्ट करने वाले तत्वों को नियंत्रित रखा जाये। गण के नेतृत्व के गुणों के कारण वस्तुत वे जन-गण-मन के सच्चे भाग्य विधाता है। गोस्वामी तुलसीदास ने उनकी मोदकप्रिय मुद्र मंगलदाता के रूप में आराधना की है। प्रो. शर्मा ने आगे कहा कि आदर्श लेखक और श्रोता के रूप में वे व्यासदेव द्वारा वे प्रशंसित हैं। पौराणिक साहित्य में वे विद्या और बुद्धि के देवता के रूप में पूज्य हैं।  ललितपुर जनपद के बानपुर गांव से 2 किलोमीटर दूर गणेशपुरा में नृत्य गणपति की विशाल प्रतिमा में उनके समस्त गुण चन्द्रमा की सोलह कलाओं की तरह आलोकित हैं। चांदपुर, दूधई की जो प्रतिमायें झांसी संग्रहालय की शोभा में चार चांद लगा रही हैं, वह बुन्देली पुरातात्विक वैभव की दुर्लभ धरोहर हैं। ललितपुर की पुरानी कोतवाली में श्री गणेश की नृत्य प्रतिमा उनके मुद्रमय मंगल स्वरूप की जीवंत कृति हैं। संगोष्ठी में डा.पूरन सिंह निरंजन, डा.जनक किशोरी शर्मा, आचार्य सत्यनारायण तिवारी, राजेश देवलिया, डा.दीपा सिंधी, डा.पुनीत बिसारिया, महेन्द्र रावत, विलास पटैरिया आदि ने भी अपने विचारों को रखा। अंत में सभी के प्रति आभार पं.चन्द्रविनोद हुण्डैत ने व्यक्त किया।

भाजपा ने जारी की जिला पंचायत सदस्य प्रत्याशियों की सूची
ललितपुर। त्रिस्तरीय पंचायत सामान्य निर्वाचन को लेकर भारतीय जनता पार्टी ने प्रत्याशियों की सूची जारी कर दी है। यह सूची प्रान्तीय उपाध्यक्ष अशोक कटारिया की मौजूदगी में क्षेत्रीय अध्यक्ष रामरतन कुशवाहा ने जारी की है। भाजपा समर्थित प्रत्याशियों में वार्ड सं.15 सैदपुर से भागचंद्र कुशवाहा, वार्ड सं.16 गुढ़ा से महेन्द्र कुमार जैन, वार्ड सं.17 सिलावन से विनय कौशिक पत्नी अरविंद कौशिक, वार्ड सं.14 मड़ावरा से बेटी बाई पत्नी प्रभूदयाल, वार्ड सं.13 सौंरई से रतीबाई पत्नी मुन्ना कोरी, वार्ड सं.12 नाराहट से भगवान सिंह निरंजन, वार्ड सं.1 पूराकलां से सुरेश चैबे, वार्ड सं.2 खांदी से डा.प्रीतम सिंह कुशवाहा, वार्ड सं.3 थाना से पहलवान सिंह लोधी, वार्ड सं. 18 बानपुर से आशीष रावत, वार्ड सं.19 कैलगुवां से रीतादेवी पत्नी सुनील कुमार, वार्ड सं.20 बार से चन्द्रकलां पत्नी कुलदीप सिंह, वार्ड सं.21 पारौन से बिन्दू रावत पत्नी हरिश्चंद्र रावत, वार्ड सं.8 जाखलौन से वंशीधर श्रीवास, वार्ड सं.9 बिरधा से चन्द्रशेखर पंथ, वार्ड सं.10 खितवांस से सरोज सड़ैया पत्नी रामेश्वर सड़ैया, वार्ड सं.11 बालाबेहट से सदारानी पत्नी पंडा, वार्ड सं. 4 जखौरा से समरथ सिंह लोधी, वार्ड सं. 5 थनवारा से केहर सिंह बुन्देला, वार्ड सं. 6 बांसी से हरीसिंह बुन्देला, वार्ड सं.7 बुढ़वार से यंगवीर यादव शामिल हैं। यह जानकारी भाजपा मीडिया प्रभारी देवेन्द्र गुरू ने दी है।

रेलवे स्टेशन परिसर से हटायीं गईं दुकानें
ललितपुर। ललितपुर रेलवे स्टेशन अब घोषित आदर्श स्टेशन की भांति ही दिखेगा। स्टेशन परिसर के समीप वर्षों से बनी चाय-पान की गुमटियों को आज रेलवे प्रशासन ने सर्वोच्च न्यायालय से मिले फैसले के बाद हटवा दिया। वर्षों से दुकानदारों व रेलवे के मध्यम सुप्रीम कोर्ट में मामला विचाराधीन था। जिसमें कुछ महीनों पहले रेलवे के पक्ष में फैसला सर्वोच्च न्यायालय द्वारा किया गया। फैसला आने के बाद रेलवे ने अपनी जमीन खाली कराने के लिए पूर्व में भी कई बार प्रयास किया, लेकिन सफल नहीं हो पाये। रविवार को रेलवे अधिकारियों ने स्थानीय प्रशासन की मदद से उक्त कब्जे को हटवा दिया।
            जानकारी के अनुसार ललितपुर रेलवे स्टेशन के बाहर चाय-पान की नौ दुकानें बनी हुईं थीं। जिन्हें रेलवे विभाग अपनी जमीन पर बनी होने का हवाला देता था तो वहीं दुकानदार उक्त जगह को अपना बताते थे। दोनों पक्षों का मामला सर्वोच्च न्यायालय में विचाराधीन था। वर्षों तक चले मामले के बाद जब फैसला आया तो वह रेलवे विभाग के पक्ष में था। रेलवे विभाग ने फैसला आने के बाद उक्त जमीन खाली कराने का काफी प्रयास किया। लेकिन कुछ भी नहीं हुआ। इसके बाद बीते शनिवार को रेलवे प्रशासन के अधिकारियों ने दुकानदारों के बीच आपसी सामान्जस्य बनाया और रविवार को शान्तिपूर्ण तरीके से रेलवे ने उक्त जमीन को खाली करवा लिया। इस दौरान रेलवे अधिकारियों के साथ एसडीएम सदर रमेशचंद्र तिवारी भी मौजूद रहे।

अगले बरस तुम जल्दी आना...
नम आँखों से प्रथम पूज्य श्रीगणेश को दी विदाई
ललितपुर। प्रथम पूज्य भगवान श्रीगणेश महोत्सव का आज विधिवत समापन हो गया। प्रत्येक वर्ष की भांति इस वर्ष भी शहर के कई स्थानों पर श्रीगणेश भगवान की प्रतिमाओं को स्थापित किया गया था तो वहीं लोगों ने अपने-अपने घरों में भी भगवान की प्रतिमाओं को स्थापित कर उनकी उपासना की।
            श्रीगणेश चतुर्थी के दिन विराजमान किये गये भगवान श्रीगणेश की भक्तों ने भक्तिमय वातावरण में उपासना की। भगवान का पूजन करने के लिए श्रृद्धालुओं की भीड़ सुबह से ही उमड़ पड़ती थी। शहर के कटरा बाजार में सबसे भव्य श्रीगणेश प्रतिमा सजायी गयी। यहां स्थापित किये गये श्रीगणेश भगवान की प्रतिमा को देखने के लिए नगर के विभिन्न स्थानों से श्रृद्धालुओं का आना होता था। जल बिहार पर्व के दिन भगवान श्रीकृष्ण एवं राधाजी जब तालाब में बिहार करते हैं तो लौटकर कटरा बाजार में सजायी गयी श्रीगणेश प्रतिमा के समक्ष विराजमान किये जाते हैं। यहां श्रृद्धालुओं का तांता लगा रहता है। इसी प्रकार घर-घर में भगवान श्रीगणेश की प्रतिमाओं को सजाकर उनकी भक्ति आराधना की गयी। आज श्रीगणेश उत्सव का विधिवत समापन हो गया। लोगों ने श्रीगणेश को अगले बरस जल्दी आने का वायदा लेकर नम आंखों से विदाई दी। लोगों ने श्रीगणेश प्रतिमाओं को गाजे-बाजे के साथ गोविंद सागर बांध में विसर्जित कर दिया। बांध पर प्रतिमाओं को विसर्जन करने के लिए नगर पालिका परिषद ने घाट की व्यवस्था की थी।

विधि शिक्षा में गंभीरता से अध्ययन कर करें नाम रौशन : पाण्डेय
बुन्देलखण्ड राज्य निर्माण की आवश्यकता पर दिया बल
ललितपुर। जय बुन्देलखण्ड कालेज आफ ला पनारी में औपचारिक उद्घाटन के मौके पर बार काउंसिल आफ उत्तर प्रदेश के सदस्य जानकी शरण पाण्डेय बतौर मुख्य अतिथि एवं बुन्देलखण्ड कालेज झांसी के प्राचार्य डा.बाबूलाल तिवारी की अध्यक्षता में किया गया।
            इस अवसर पर मुख्य अतिथि ने कहा कि स्वदेश पूज्यते राजा विद्वान सर्वत्र पूजते। सूक्ति के अनुसार ज्ञान की सब जगह प्रशंसा होती है। उन्होंने सभी विद्यार्थियों से गंभीरता से अध्ययन करने और विधि शिक्षा के क्षेत्र में इस पिछड़े बुन्देलखण्ड का नाम रौशन करने का आह्वान किया। अध्यक्षता कर रहे डा.बाबूलाल तिवारी ने कहा कि आजादी के बाद से बुन्देलखण्ड की धरती के साथ सदा से अन्याय होता रहा है। आजादी की लड़ाई में जो योगदान बुन्देलखण्ड ने दिया है, उसका उदाहरण कहीं और नहीं मिल सकता। उन्होंने कहा कि बुन्देलखण्ड से अब तक न तो कोई प्रधानमंत्री न ही मुख्यमंत्री न ही राज्यपाल और न ही न्यायाधीश बनाया गया। कहा कि इस क्षेत्र में सिर्फ बेरोजगारी है। उन्होंने बुन्देलखण्ड राज्य निर्माण की आवश्यकता पर बल दिया। इस अवसर पर नेमवि के संस्कृताचार्य डा.ओमप्रकाश शास्त्री, राजकीय शिक्षक संघ के प्रान्तीय महामंत्री केदारनाथ तिवारी, जिला बार एसोशियेशन अध्यक्ष संजय चैबे, महामंत्री राजेश देवलिया, केहर सिंह, पवन जायसवाल, विजय किलेदार, सिद्धार्थ श्रीवास्तव, दिनेश गोस्वामी ने अपने विचारों को रखा। इस दौरान रवीन्द्र कुरेले, देवेन्द्र श्रीवास्तव गुरू, रूपेश साहू, अरविंद सिंह, रोहित यादव, अनंत तिवारी, आजाद आदि मौजूद रहे। संचालन प्रवक्ता सचिन गुप्ता ने किया।

नाली पर अवैध निर्माण को नगर पालिका ने ढहाया
बीते रोज एसडीएम से की गयी थी शिकायत
ललितपुर। मोहल्ला आजादपुरा में जल निकासी के लिए बनायी जा रही नाली पर एक दबंग परिवार द्वारा करीब आठ फुट पर जबरन कब्जा कर पिलर खड़ा कर दिया गया था। मामले में मोहल्लेवासियों ने तहसील दिवस में शिकायती पत्र दिया था, जिस पर कार्यवाही करते हुये नपा ईओ ने मौके पर जाकर अतिक्रमण हटाने के निर्देश दिये थे। नाली से अतिक्रमण तो नहीं हटाया गया, बल्कि दबंग परिवार ने उक्त स्थान पर दीवाल खड़ी कर दी। मामले की सूचना बीते रोज मोहल्लेवासियों ने एसडीएम सदर को शिकायत कर दी थी। एसडीएम के निर्देश पर आज नगर पालिका परिषद कर्मचारियों ने मौके पर जाकर उक्त निर्माण कार्य को ढहा दिया। शिकायत कर्ताओं में अशोक कटारे, जयनारायण, ऋषभकुमार, महेन्द्र सिंह, रज्जूलाल, गौरव, राजेन्द्र आदि मौजूद रहे।

स्काउट गाइड से जुड़े युवक राष्ट्र निर्माण में अहम भूमिका निभायें : शास्त्री
ललितपुर। राजकीय बालिका इण्टर कालेज में माध्यमिक विद्यालयों के स्काउट गाइड छात्रध्छात्राओं का त्रिदिवसीय तृतीय सोपान शिविर का समारोहपूर्वक शुभारम्भ किया गया। जनपद के माध्यमिक विद्यालयों के छात्र छात्राओं के तृतीय सोपान शिविर का शुभारम्भ स्काउट ध्वजारोहण के साथ किया गया। इस दौरान जिला विद्यालय निरीक्षक राजेन्द्र त्रिपाठी ने कहा कि आज का युवा भारत राष्ट्र का भविष्य है। तो वहीं डा. ओमप्रकाश शास्त्री ने कहा कि नैतिक व चारित्रिक मूल्यों की स्थापना, व्यक्तित्व का विकास करने के लिये स्काउट गाइड की स्थापना की गई है। इससे जुड़े युवक राष्ट्र निर्माण में अपनी महती भूमिका निभायें। इस अवसर पर राजेन्द्र त्रिपाठी, जयशंकर प्रसाद, डा. राजीव निरंजन, मीना चैहान, डा. मधुकान्ता समाधिया, सोनम शर्मा, इमरत लाल, हरीशंकर त्रिपाठी, विनोदनी जार्ज, सुनील राय, मु. तनवीर, भावना राठौर, नाजनीम, ज्योति मसीह, मीरा वैद्य, अजय प्रताप सिंह, रितु गुप्ता आदि उपस्थित रहे।

दो दिवसीय किसान सशक्तिकरण अभियान आज से
ललितपुर। प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय एक नैतिक और आध्यात्मिक मूल्यों द्वारा इस संपूर्ण समाज को मूल्य युक्त बनाने का वैश्विक कार्य पिछले 79 वर्षों से करता आ रहा है। प्रेम, शान्ति, पवित्रता, सहानुभूति, सद्भावना, सहयोग, विश्वास रूपी मूल्यों को जीवन में स्थापित करना, ताकि आपसी भाईचारे के द्वारा समस्या युक्त समाज बन जाये और विश्व में अमन चैन हो। इसी उद्देश्य से संस्था की सहयोगी संस्था है। राजयोगा एजुकेशन एण्ड रिसर्च फाउण्डेशन, जिसमें समाज को कई प्रभागों में रखा गया है, जिसमें महिला, एजुकेशन, डाक्टरर्स और ग्राम विकास प्रभाग शामिल हैं। इन प्रभागों के अंतर्गत गांवों को गोकुल गांव और किसानों को सशक्त करने के उद्देश्य से अखिल भारतीय किसान सशक्तिकरण अभियान 13 सितम्बर दिल्ली के तालकटोरा स्टेडियम में भारत के कृषि मंत्री भ्राता राधामोहन द्वारा उद्घाटन किया गया। ताकि सारे देश में विचारिक, आध्यात्मिक क्रान्ति ला सकें। यह अभियान साजापुर से चलकर श्योपुर जाने वाला है। 2829 सितम्बर को ललितपुर जिले में अपनी सेवायें दे रहा है। इसी पुनीत कार्य में वरदानी भवन की बड़ी दीदी बी.के.चित्ररेखा ने सभी से सहयोग की अपील की है।

सर्वश्रेष्ठ साधना का प्रतीक व्रहमचर्य धर्म : आर्यिका श्री
ललितपुर। संयम साधना का पर्वराज पर्व आर्यिकाश्री पूर्णमति माताजी ससंघ सानिध्य में संपन्न हुआ। जैन मंदिरों में पूजन अभिषेक विधान का आयोजन हुये। आर्यिकाश्री ने कहा व्यक्ति के शरीर की शोभा शील से है यदि शील नहीं तो कुछ नहीं। शरीर द्वारा ही धर्म की साधना होती है इसके लिए पुरूषार्थ की जरूरत है। जीवन में मर्यादा है तो सब कुछ और यदि धर्म की विचारधारा ही नहीं तो सब व्यर्थ है। गुरू महिमा बताते हुए कहा गुरूवर तेरे चरणों की मुझे धूल मिल जाए चरणों की रच पाकर चकदीर बदल जाए। गुरू को दिव्य आत्मा की संज्ञा देते हुए धैर्य और संयम रखने की आवश्यकता पर बल दिया। आर्यिकाश्री ने कहा व्यक्ति को सदाचार और सत्संस्कारों को संहालने की महति आवश्यकता है अपने राध्य इतिहास पुरूषों को आदर्श मानकर पवित्र व्रहम के पद को पाने मंक्तिमार्ग के पथिक बनने का आव्हान किया। नगर के प्रमुख जैन अटा मंदिर, नया मंदिर, बाहुबलि नगर, बडा मंदिर में पर्यूषण पर्व के समापन पर कलशाभिषेक विद्वानों ने सम्पन्न कराया।

पहली अक्टूबर को सुनायेंगे किसानों की समस्यायें
ललितपुर। भारतीय किसान यूनियन (भानु) की बैठक में बुन्देलखण्ड उपाध्यक्ष अयोध्या प्रसाद निरंजन ने बताया कि राष्ट्रीय अध्यक्ष भानु प्रताप सिंह चैहान के किसानों की समस्याओं को लेकर 1 अक्टूबर को जिलाधिकारी को ज्ञापन सौंपा जायेगा। बैठक में पटसेमरा के पूर्व प्रधान भन्नूराजा तोमर की माताजी गुलाबरानी के निधन पर गहरा शोक व्यक्त किया गया। इस दौरान अनेकों कार्यकर्ता मौजूद रहे।

अनाथालय जैसी दुर्दशा हो गयी कम्पनी बाग की : बुविसे
व्यवस्थायें दुरुस्त कराने की प्रबलता से उठायी मांग
ललितपुर (ब्यूरो)। बुन्देलखण्ड विकास सेना की एक बैठक मीडिया प्रभारी राजमल जैन बरया की अध्यक्षता में आयोजित की गयी। बैठक में वक्ताओं ने नगर के एक मात्र कम्पनी बाग की दुर्दशा पर गहरी चिन्ता व्यक्त की और किसी अनाथालय से तुलना कर सम्बन्धित विभाग के भ्रष्टाचार में लिप्त होने का गंभीर आरोप लगाया। वक्ताओं ने उद्यान मंत्रालय एवं जिला प्रशासन से लाइटिंग की आकर्षित व समुचित व्यवस्था करने, फब्बारे चलाने एवं उचित रख-रखाव के साथ-साथ सफाई व्यवस्था करने की मांग की। अन्यथा की स्थिति में बुन्देलखण्ड विकास सेना ने आंदोलन की चेतावनी दी। वक्ताओं ने सुझाव दिया कि अधिकतर कार्य नगर पालिका करती है साथ ही हाल में लकड़ी के बनावटी कार्य किये जा रहे हैं, तो नगर पालिका को ही उद्यान विभाग को सौंप दिया जाये, ताकि चुनी हुई संस्था व्यापक सौंदर्यीकरण करके नगर की जनता को लाभ प्रदान कर सके। वक्ताओं ने कहा कि सुबह-शाम यहां घूमने वाले सैकड़ों लोगों में महिलाओं, पुरुषों व बच्चों को घास तक नहीं मिलती। इसके अलावा फूल, पौधे, क्यारी भी व्यवस्थित नहीं। इसके अलावा उन्होंने शाम होते ही पार्क को नशाबाजों का अड्डा बन जाने का आरोप लगाया। बैठक में कदीर खां, दिलीप, शिवप्रसाद श्रोतीय, सुदेश सोनी, राजकुमार कुशवाहा, अमर सिंह बुन्देला, अजमल खान, दंगल सिंह, राजकुमार गौतम, बृजेश राठौर, हल्के कुशवाहा, कामता शर्मा, गफूर खां, कुलदीप जैन, सुरेन्द्र सेन, कपिल साहू, अभिषेक, देवऋषि, भगवत दयाल, प्रदीप साहू, मंटूलाल, पृथ्वी राज, विवेक जायसवाल आदि मौजूद रहे। संचालन राजकुमार कुशवाहा ने किया।

No comments:

Post a Comment