सरोकार की मीडिया

test scroller


Click here for Myspace Layouts

Monday, May 2, 2016

पति ने बनाई पत्नी की नीली फिल्म




पति ने बनाई पत्नी की नीली फिल्म

ललितपुर। सात फेरे सात वचनों के साथ जुड़ने वाला पति पत्नी का रिश्ता पवित्र रिश्ता होता है। जिसमें पति अपनी पत्नी की रक्षा करने के लिए वचन उठाता है, पर जब पति ही रिश्तों को तार-तार करने लगे तो समाज में पत्नी कहां सुरक्षित महसूस करेगी। ऐसा ही वाकिया जिला ललितपुर में घटित हुआ। पूरे मामले पर प्रकाश डाला जाए तो आरती वर्मा (काल्पनिक नाम) निवासी लैडिया पुरा, हाल निवासी वर्णी जैन इंटर कॉलेज के पीछे, आजादपुरा, ललितपुर का विवाह कुछ वर्षों पूर्व लखनऊ निवासी प्रवीण के साथ हुआ था। पिता ने अच्छा घर और लड़के को परखने के उपरांत आरती का विवाह किया था, पर किस के मन में क्या है? कौन जान सकता है? शादी के बाद आरती अपने ससुराल लखनऊ चली गई। विवाह के कुछ वर्षों के अंतराल में आरती को दो कन्याएं पैदा हुई। चूंकि लड़का अपनी कारगुजारी और बुरे कर्मों की वजह से कहीं कुछ नहीं करता था। इसी बीच आरती का चयन जिला ललितपुर में अनुदेशक (संविदा पर) के पद पर हुआ तो वह लखनऊ से ललितपुर आ गई। ताकि वह अपनी बच्चियों की परिवश सही तरीके से कर सके। इसी वजह से उसने आजादपुरा ललितपुर में ही एक मकान किराए पर लेकर रहने लगी। वहीं प्रवीण का देखा जाए तो वह कुछ दिन ललितपुर में तो कुछ दिन लखनऊ आता-जाता रहता है।
गौरतलब है कि प्रवीण के गलत संगत और कुछ न करने की वजह से बार-बार आरती से अपने खर्चों के लिए रुपया मांगने का सिलसिला बरकरार रहा। इसी बीच प्रवीण के शैतानी दिमाग की उपज ने आरती की नीली फिल्म बना ली। जब आरती को पता चला तो उसने इस बात का विरोध किया। विरोध का नतीजा कुछ यूं हुआ कि वह आरती के साथ मारपीट करने लगा, और अपनी पत्नी की नीली फिल्में बनाकर मार्केट में बचने लगा। हालांकि ज्ञात सूत्रों के मुताबिक पता चला कि प्रवीण शायद अपनी पत्नी से धंधा भी करवाता है। क्योंकि रात में अक्सर लोगों का आना-जाना लगा रहता है।
अगर देखा जाए तो प्रवीण द्वारा आरती की बनाई गई नीली फिल्में जिला ललितपुर में कई लोगों के पास मौजूद हैं। अब आरती की यह फिल्में प्रवीण ने किस-किस को बेची यह प्रवीण ही बता सकता है। हालांकि जब हमारे संवाददाता ने इस संदर्भ में प्रवीण से फोन पर बात करने की कोशिश की तो उसने संवाददाता से बदसलूकी करते हुए कहां कि आप हमें परेशान कर रहे हैं। यह हमारा आपसी मामला है, तुम कौन होते हो हमारे बीच में आने वाले, मैं जो चाहे अपनी पत्नी से करवाऊ। और फिर फोन अपनी पत्नी आरती को पकड़ा दिया। चूंकि मामला नीली फिल्म और लड़की से संबंधित था तो हमारे संवाददाता ने इस वाबत् कोई ज्यादा पहल नहीं की। क्योंकि हो सकता था कि पति के दबाव में चलते वह संवाददाता पर ही आरोप लगा देती ही यह हमारे साथ बदसलूकी कर रहा था, क्योंकि ऐसे कई झूठे मामले आज भी न्यायालय में लंबित चल रहे है। वैसे हुआ भी कुछ यूंही......... प्रवीण ने 1090 महिला हेल्प लाइन पर शिकायत दर्ज करवा दी कि उक्त व्यक्ति मेरी पत्नी को परेशान परेशान कर रहा है। जिस संदर्भ में हमारे संवाददाता ने पुलिस अधीक्षक महोदय को संबंधित मामले से अवगत कराया। पुलिस अधीक्षक महोदय ने मामले को गंभीरता से लेते हुए महिला थानाध्यक्ष को उक्त मामले की जांच कर जल्द ही कार्यवाही करने के आदेश दे दिए है।
डॉ. गजेन्द्र प्रताप सिंह
प्रधान संपादक-दैनिक सरोकार की मीडिया, ललितपुर
ब्यूरो चीफ- टाइम न्यूज, ललितपुर

No comments:

Post a Comment