सरोकार की मीडिया

test scroller


Click here for Myspace Layouts

Wednesday, October 7, 2015

ललितपुर समाचार, 08 अक्‍टूबर,2015 दैनिक सरोकार की मीडिया

ललितपुर समाचार, 08 अक्‍टूबर,2015 दैनिक सरोकार की मीडिया


अवैध शराब के कारोबार को संरक्षण देना पड़ा मंहगा
आबकारी आयुक्त ने आबकारी निरीक्षक को किया निलंबित

ललितपुर। जनपद ललितपुर पिछले कुछ वर्षों से अवैध शराब का कुख्यात क्षेत्र के रूप में पहचान बनाता जा रहा था। इसका प्रमुख कारण विभागीय अधिकारी द्वारा अवैध शराब के कारोबारियों को प्रत्यक्ष-अप्रत्यक्ष रूप से खुला संरक्षण देना था। मध्य प्रदेश की शराब भी ललितपुर में धड़ल्ले से बेची जा रही थी, जिस पर अंकुश लगाने में आबकारी विभाग नाकाफी साबित हो रहा था। इस प्रकार की लगातार मिल रहीं शिकायतों को गंभीरता से संज्ञान लेते हुये उत्तर प्रदेश के आबकारी आयुक्त भवनाथ ने ललितपुर क्षेत्र-1 के आबकारी निरीक्षक विकास कुमार सिंह (वी.के.सिंह) को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर इलाहाबाद कार्यालय से सम्बद्ध कर दिया है।
            ताजा मामला विगत 23 अगस्त 2015 का है। उक्त प्रकरण में आबकारी निरीक्षक द्वारा दविश देकर जो अभियोग पकड़ा था, उस मसले में अग्रतर कार्यवाही करने में रूचि नहीं दिखायी। इसके अलावा आरोप यह भी लगाये गये हैं कि इनके क्षेत्र में पडऩे वाले ढाबों से मध्य प्रदेश की शराब की बिक्री एवं अवैध कच्ची शराब की बिक्री भी संरक्षण देकर की जा रही थी। आबकारी आयुक्त ने अपने पत्र में स्पष्ट किया है कि इनके द्वारा अपने अधीनस्थों के माध्यम से वसूली कराते हुये गंभीर प्रकरण को लेकर विभागीय कार्यवाही में अनुशासनहीनता किये जाने का प्रथम दृष्टया पाया गया है। जिसके चलते आबकारी आयुक्त भवनाथ ने आबकारी निरीक्षक को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है।

नगर पालिका में तैनात करलिपिक के घर लाखों की चोरी
आजादपुरा तृतीय में बदमाशों ने दिया घटना को अंजाम
ललितपुर। पंचायत चुनाव को जहां एक ओर शान्ति व सौहार्द पूर्ण वातावरण में संपन्न कराने के लिए ललितपुर पुलिस फोर्स ग्रामीण अंचलों में जुटा हुआ है तो वहीं शहर की सुरक्षा व्यवस्था ढीली पड़ गयी है। इसी का लाभ उठाते हुये बीती रात अज्ञात बदमाशों ने नगर पालिका परिषद में कार्यरत कर लिपिक के घर को निशाना बनाते हुये लाखों की चोरी कर एक बड़ी घटना को अंजाम दिया है। पीड़ित ने चोरी की सूचना कोतवाली पुलिस को देते हुये कार्यवाही की मांग की है।
            शहर के वार्ड संख्या 20 आजादपुरा तृतीय स्थित माँ सरस्वती शिशु मंदिर के पास निवासरत अभिषेक चैबे पुत्र संजय कुमार चैबे जो कि नगर पालिका परिषद में बतौर कर लिपिक के पद पर तैनात हैं। मंगलवार को देर रात करीब 1.30 बजे तक वह अपनी 6 माह की पुत्री को सुलाने में व्यस्त थे। रात 2 बजे के दरम्यान हवा का झोंका आया और अभिषेक चैबे, उनकी पत्नी बेसुध हो गयीं। अज्ञात बदमाशों ने मुख्य द्वार पर लगा ताला चटकाते हुये अंदर प्रवेश किया और दरवाजा पूर्व की भांति बंद कर दिया। बदमाशों ने लाइट बंद कर दी और अभिषेक चैबे के घर में बने कमरे में घुस गये। इस दौरान बदमाशों ने दो कमरों को अपना निशाना बनाया। पहले कमरे में रखीं दो अलमारियों व एक बक्से का ताला तोड़कर बदमाशों ने उसमें रखे सोने-चांदी के जेवरातों को चोरी कर लिया। इसके बाद दूसरे कमरे में पहुंचे बदमाशों ने रखी अलमारी को किसी चाबी से खोला और उसमें रखा सामान फेंक दिया। दूसरी अलमारी में भी कुछ जेवरात रखे हुये थे, जिन्हें बदमाशों ने चोरी कर लिया। इत्मिनान से चोरी की घटना को अंजाम देकर बदमाशों ने मुख्य द्वार का गेट खोलकर भागने लगे, तभी लोहे के बने मुख्य गेट से तेज आवाज आई, जिसे सुनकर बेसुध पड़े अभिषेक चैबे ने सुन लिया और उठकर चिल्लाने लगे। अभिषेक चैबे के अनुसार वह बदमाशों के पीछे भागे भी, जिसमें से उन्हें गली की मोड़ पर कुछ युवक भागते हुये भी नजर आये। अभिषेक चैबे ने पड़ौस में रहने वाले लोगों को जगाया और उन्हें घटना की सूचना दी। अभिषेक चैबे ने बताया कि उनके घर से सोने-चांदी के लगभग चार लाख रुपये की कीमत के जेवरात चोरी हुये हैं। आगे उन्होंने बताया कि बीते रविवार को उनकी माताजी श्रीमती लीला चैबे व छोटा भाई अमित चैबे के साथ मथुरा गये हुये हैं। हालांकि घटना की सूचना मिलने पर नई बस्ती चैकी प्रभारी शिवपाल सिंह व सुबह करीब 9 बजे शहर कोतवाल मंगला प्रसाद तिवारी ने घटना स्थल पर पहुंच कर मौका मुआयना करते हुये मामले की तफ्तीश शुरू कर दी है।
डायल 100 नम्बर पर सहयोग का दावा निकला खोखला
पीड़ित अभिषेक चैबे ने बताया कि पुलिस विभाग द्वारा किसी भी आपातकालीन स्थिति में जनता को पुलिस के त्वरित सहयोग के लिए डायल 100 जारी किया गया है, जिससे कि सम्बन्धित क्षेत्र की पुलिस को तत्काल घटना स्थल पर भेजा जा सके। चोरी होने के तत्काल बाद अभिषेक चैबे ने जब 100 नम्बर डायल किया तो ऑपरेटर ने कहा चोरी हो रही है क्या ? थाने आ जाओ। इस पर अभिषेक चैबे ने कहा कि चोरी हो चुकी है तो ऑपरेटर ने कहा थाने आ जाओ। 100 नम्बर पर सहायता मुहैया न कराये जाने के बाद अभिषेक चैबे रात करीब 3.30 बजे घर में अपनी पत्नी व 6 माह की बच्ची को छोड़कर शिकायत दर्ज कराने थाने पहुंचे।
कूलर से बेहोशी की दवा छिड़कने का अंदेशा
अभिषेक चैबे का कहना है कि वह मुख्य द्वार के बगल से बने कमरे में अपनी पत्नी, पुत्री के साथ रात करीब डेढ़ बजे तक मौजूद थे। कमरे में पहुंचने के बाद कूलर से आये हवा के झोंके के साथ ही वह और उनकी पत्नी बेसुध हो गये। उन्होंने अंदेशा जाहिर करते हुये बताया कि बदमाशों ने कूलर के जरिए बेसुध करने की दवा छिड़क दी होगी।
योजनाबद्ध तरीके से दिया गया घटना को अंजाम
चोरी की घटना के बाद मौके पर पहुंचे पुलिस कर्मियों ने मुआयना किया। तो काफी हद तक यह अंदेशा जताया जा रहा है कि इस घटना को किसी जानकार व्यक्ति द्वारा अंजाम दिया गया है, क्योंकि मुख्य गेट का ताला मौके से गायब मिला। तो वहीं दूसरे कमरे की अलमारी की चाबियां उसमें लगी मिलीं, उक्त चाबियों की जानकारी अभिषेक चैबे के अनुसार उन्हें नहीं थी।
मुद्रा योजना के लिए अतिरिक्त काउण्टर की मांग
संयुक्त उद्योग व्यापार मण्डल ने एलडीएम को सौंपा ज्ञापन
ललितपुर। प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के अंतर्गत ऋण आवेदनों के समाधान किये जाने के लिए अतिरिक्त काउण्टर खोले जाने की मांग की गयी है। इस सम्बन्ध में संयुक्त उद्योग व्यापार मण्डल के संयोजक सुमित अग्रवाल के नेतृत्व में व्यापारियों ने एक ज्ञापन जिला अग्रणी बैंक प्रबंधक को एक ज्ञापन सौंपा है।
            ज्ञापन में बताया कि देश की प्रधानमंत्री की महत्वाकांक्षी योजना में शामिल मुद्रा योजना के तहत सभी छोटे-बड़े व्यापारियों, उद्यमी एवं महिला उद्यमियों को रोजगार की स्थापना के लिए व रोजगार विस्तार के लिए 50 हजार से लेकर 10 लाख रुपये तक का ऋण बगैर गारण्टी के कम कागजी कार्यवाही के उपलब्ध कराना है। जिसके लिए नियमानुसार वित्त मंत्रालय द्वारा सर्कुलर जारी करके शिविर के माध्यम से उपलब्ध कराना सुनिश्चित किया गया है। लेकिन ललितपुर के कई सरकारी व प्राईवेट बैंक इस योजना को ऋण आवेदन का निस्तारण करने में मनमानी कर रहे हैं। आरोप लगाया कि उक्त बैंक शाखायें स्टाफ की कमी व लक्ष्य पूर्ति होने का कारण बताते हुये आवेदकों को निराश कर रहे हैं। ऐसे में व्यापारियों ने जिला अग्रणी बैंक प्रबंधक से प्रधानमंत्री जन धन योजना के जैसे ही मुद्रा योजना के लिए अलग से काउण्टर खोलकर ऋण वितरण के लिए शिविर लगाये जाने की मांग की है। ज्ञापन देते समय संयोजक सुमित अग्रवाल, सुरेश कुमार, नसीम बाबा, अजित जैन, राजा पटना, परवेज पठान, अमन शर्मा, सर्वेश जैन, नरेन्द्र तिवारी, हरीराम, आशीष काव्यांजलि, अमित तिवारी, ब्रजेश ताम्रकार, विशाल रावत, रामगोपाल ताम्रकार, संतोष राठौर, दीपक जैन समेत अनेकों व्यापारी नेता मौजूद रहे।

एनएचआरएम टीम ने किया महिला अस्पताल का निरीक्षण
देखी स्वास्थ्य सेवायें व उपकरण
ललितपुर। केन्द्र से आई एनएचआरएम टीम ने बुधवार को जिला महिला अस्पताल का औचक निरीक्षण किया। इस दौरान टीम सदस्यों ने मरीजों को दिये जा रहे उपचार की व्यवस्थायें देखी तो वहीं एनएचआरएम के तहत मुहैया कराये गये उपकरणों व निर्माण कार्यों को देखा।
            तीन सदस्यीय टीम ने सर्वप्रथम महिला अस्पताल में प्रसव कक्ष का निरीक्षण किया। यहां उन्होंने महिला प्रसूताओं से चिकित्सा के दौरान मिलने वाली मूलभूत सुविधाओं के बारे में जानकारी ली। साथ ही गर्भवती महिलाओं से वार्ता करते हुये दवायें समय पर मिलने की बात भी पूछी। तदोपरान्त प्रसव वार्ड का निरीक्षण करते हुये टीम सदस्यों ने प्रसूताओं से समय पर भोजन, दवायें इत्यादि मिलने की जानकारी ली। टीम सदस्यों ने जिला महिला अस्पताल स्थित ब्लड बैंक का भी जायजा लिया। इस दौरान सीएमएस डा.हरेन्द्र सिंह चैहान, एनएचआरएम के विजय कुमार, चिकित्सक डा.राजनारायण आदि मौजूद रहे।

जिला अस्पताल में दबंगई से वसूली जा रहा पार्किंग टैक्स
शासनादेश की धज्जियां उड़ाने में पीछे नहीं है जिला अस्पताल
ललितपुर। उत्तर प्रदेश शासन शहरी व ग्रामीण अंचलों में रहने वाले लोगों को मुफ्त इलाज की सुविधा मुहैया करायी है। ताकि लोगों को स्वास्थ्य के प्रति आर्थिक रूप से परेशान न होना पड़े। शासनादेशों के स्पष्ट आदेशों के बावजूद भी जिला अस्पताल में मरीजों के तीमारदारों से वाहन पार्किंग के नाम पर जबरन अवैध वसूली की जा रही है। इतना ही नहीं कोई तीमारदार अवैध वसूली देने से इंकार करता भी है तो पार्किंग की अवैध वसूली करने वाले लोग उसके साथ अभद्रता करते हुये मारपीट तक पर आमादा हो जाते हैं।
            इस मामले की शिकायत कई बार प्रशासन से की गयी, लेकिन मामला ठण्डे बस्ते में पड़ा हुआ है। ऐसा ही नजारा जिला चिकित्सालय में देखने को मिला, जब लोग अपना मरीज लेकर या किसी मरीज को देखने पहुंचे तो सबसे पहले वाहन रखने के नाम पर 10 रुपये जबरन देने पड़े। स्थिति यह रही कि जिस भी वाहन चालक द्वारा पैसे नहीं दिये गये तो वहां पर लाठी डंडे लिये दबंगो ने जबरन पैसे छीन लिये। दिनभर चिकित्सालय पहुंचे वाहन चालकों से गुण्डई के बल पर वसूली की गई स्थिति यह रही कि मोटरसाईकिल चालक से 10 एवं कार चालक से 20 रुपये की उगाही की गयी। जब सीएमएस से इस संबंध में बात की गई तो कहा कि पूर्व जिलाधिकारी ने ठेका करने के निर्देश दिये थे। इसी के तहत पार्किंग का ठेका किया गया है, जबकि शासनादेश स्पष्ट है कि शासकीय चिकित्सालय परिसर में कोई भी पार्किंग ठेका नहीं होगा। जब सरकार 1 रुपये में पूरा इलाज कर रही है तो ऐसे में मरीज 10 रुपये पार्किंग शुल्क क्यों दे ? इस संबंध में लोगों ने जिलाधिकारी से शिकायत दर्ज करायी है।

हाईवे किनारे स्थित ढाबों पर चला चैकिंग अभियान
आबकारी विभाग ने अवैध शराब के खिलाफ अभियान किया तेज
ललितपुर। वर्तमान में चल रहे पंचायत चुनाव के मद्देनजर ग्रामीण अंचलों में अवैध शराब के खिलाफ आबकारी विभाग द्वारा युद्धस्तर पर अभियान चलाया जा रहा है। मतदाताओं को रिझाने के लिए अवैध शराब ग्रामीण अंचलों में न पहुंचने पाये इसके लिए भी आबकारी विभाग अपनी पैनी नजर बनाये हुये हैं। अवैध शराब के खिलाफ लगातार की जा रही व्यापक कार्यवाही से अवैध शराब के कारोबारियों में हड़कम्प मचा हुआ है।
            जिलाधिकारी डा.रूपेश कुमार व पुलिस अधीक्षक प्रभाकर चैधरी के सख्त आदेश पर आबकारी विभाग व सहयोगी पुलिस बल द्वारा लगातार अलग-अलग थाना क्षेत्रों में जाकर अवैध शराब के खिलाफ अभियान चलाकर कार्यवाही की जा रही है। अवैध तरीके से शराब को एक स्थान से दूसरे स्थान न ले जाया जा सके इसके लिए आबकारी विभाग द्वारा वाहनों पर भी कड़ी नजर रखी जा रही है। मंगलवार की देर शाम आबकारी अधिकारी मनोज कुमार के नेतृत्व में हाईवे किनारे स्थित सभी होटलों व ढाबों पर औचक निरीक्षण किया। ढाबों पर चलाये गये सघन चैकिंग अभियान से लोगों में हड़कम्प मच गया तो वहीं कहीं से भी कोई बसत बरामद नहीं हुई।

मतदान कार्मिकों को आज मिलेंगी निशुल्क बसें
ललितपुर। प्रभारी अधिकारी वाहन/उप जिलाधिकारी सदर रमेशचंद्र तिवारी ने प्रेस विज्ञप्ति जारी करते हुये बताया कि त्रिस्तरीय पंचायत सामान्य निर्वाचन अंतर्गत 9 अक्टूबर को विकास खण्ड महरौनी एवं मड़ावरा में होने वाले मतदान में नियुक्त किये गये मतदान कार्मिकों को सूचित किया जाता है कि उन्हें मतदेय स्थलों पर जाने के लिए 8 अक्टूबर को सुबह 6 बजे दो बसें महरौनी व दो बसें मड़ावरा के लिए निशुल्क रूप में कचहरी चैराहा से उपलब्ध रहेंगी।

No comments:

Post a Comment