सरोकार की मीडिया

test scroller


Click here for Myspace Layouts

Thursday, October 1, 2015

ललितपुर समाचार, 02 अक्‍टूबर,2015 दैनिक सरोकार की मीडिया

ललितपुर समाचार, 02 अक्‍टूबर,2015 दैनिक सरोकार की मीडिया



लोगों को रक्तदान के प्रति जागरूकता का संचार: डीएम
ललितपुर। राष्ट्रीय स्वैच्छिक रक्तदान दिवस अंतर्गत जिलाधिकारी डा.रूपेश कुमार की अध्यक्षता में वृहद रक्तदान शिविर का आयोजन जिला महिला अस्पताल परिसर स्थित ब्लड बैंक में किया गया।
            इसके पूर्व आयोजित संगोष्ठी में जिलाधिकारी डा.रूपेश कुमार ने कहा कि रक्तदान से जुड़ी भ्रान्तियों को काफी हद तक दूर किया गया है। अब लोग रक्तदान के प्रति जागरूक होकर लोगों को गंभीर बीमारियों से निजात दिलाने के लिए आगे आने लगे हैं। कहा कि ललितपुर में जो भी रक्तदान समितियां हैं, वह भी अच्छा कार्य कर रहीं हैं। संगोष्ठी में सरदार अजीत सिंह बंटी को सर्वाधिक 75 बार रक्तदान करने पर जिलाधिकारी डा.रूपेश कुमार ने उन्हें स्मृति चिह्न देकर सम्मानित किया। राष्ट्रीय स्वैच्छिक रक्तदान दिवस पर जय अम्बे रक्तदान समिति के अध्यक्ष दीपक राठौर के नेतृत्व में रक्तदाताओं ने रक्त कोष में 22 यूनिट रक्तदान किया। मौके पर सीएमओ डा.सत्येन्द्र कुमार के अलावा आशीष गौतम, प्रशान्त साहू, जयकुमार साध, दीपक प्रजापति, सौरभ जायसवाल, अनूप कुशवाहा, जगदीश राठौर के साथ अन्य लोगों ने भी रक्तदान किया। इस मौके पर डिप्टी सीएमओ डा.जे.एस.बख्शी, डीटीओ डा.सच्चीदानंद, सीएमएस (पुरुष)डा.आर.पी.सिंह, सीएमएस (महिला)डा.हरेन्द्र सिंह चैहान, डा. मुकेश चैधरी, सरदार अजीत सिंह, अमित प्रिय जैन, दीपक राठौर, जितेंद्र सिंह सलूजा आदि मौजूद रहे।

बुन्देलखण्ड को जल्द किया जाये सूखाग्रस्त घोषित: बॉबी राजा
भाकियू भानु गुट ने मुख्यमंत्री को भेजा ज्ञापन
ललितपुर। किसानों के हितार्थ उत्तर प्रदेश के संपूर्ण बुन्देलखण्ड क्षेत्र को सूखाग्रस्त घोषित कर किसानों के सभी कर्जे माफ किये जाने के साथ विभिन्न समस्याओं के त्वरित निस्तारण की मांग की गयी। इस सम्बन्ध में भारतीय किसान यूनियन भानु गुट जिलाध्यक्ष बॉबी राजा पटसेमरा के नेतृत्व में किसानों ने मुख्यमंत्री को संबोधित एक ज्ञापन प्रशासनिक अधिकारी को सौंपा।
            ज्ञापन में बताया कि कई वर्षों से ललितपुर का किसान प्राकृतिक आपदाओं का शिकार हो रहा है। बताया कि पिछले वर्ष ओलावृष्टि-अतिवृष्टि से किसानों की फसलें बर्बाद हो गयी थीं तो वहीं इस वर्ष बारिश न होने के कारण सूखा की स्थिति ने किसानों को आत्मघाती कदम उठाने पर विवश कर दिया है। उन्होंने मुख्यमंत्री से जिले को सूखाग्रस्त घोषित कर किसानों को जल्द राहत राशि पहुंचाये जाने की मांग की है। मांगों को लेकर भाकियू भानु ने पिछले वर्ष रबी व इस वर्ष की खरीफ की बर्बाद हुई फसल को लेकर सभी प्रकार के कर्जे माफकर सूखाग्रस्त घोषित किये जाने, अवशेष किसानों को मुआवजा जल्द वितरण किये जाने, प्राकृतिक आपदा का शिकार हुये किसान आश्रित परिवार को बीमा का लाभ दिलाये जाने, सम्पर्क मार्गों की मरम्मत, कचनौंदा बांध से प्रभावित किसानों को नवीन सर्किल रेट से मुआवजा दिये जाने, किसानों को मासिक पेंशन दिये जाने के अलावा अन्य समस्याओं को भी उठाया गया। भाकियू भानु गुट ने उक्त सभी 11 सूत्रीय मांगों को शीघ्र पूरा किये जाने के साथ किसानों को मुआवजा दिलाये जाने की मांग को प्रमुखता से उठाते हुये अन्यथा की स्थिति में आंदोलन की चेतावनी दी। बताया कि किसानों की समस्याओं को लेकर पूर्व में तहसील दिवसों व प्रशासनिक अधिकारियों को भी ज्ञापन देकर अवगत कराया गया कि लेकिन कार्यवाही नहीं हुई। ज्ञापन देते समय जिलाध्यक्ष बॉबी राजा पटसेमरा, अयोध्या प्रसाद निरंजन, लोकेन्द्र सिंह लम्बरदार, राजेन्द्र सिंह, राघवेन्द्र सिंह सिसौदिया, सुरेन्द्र सिंह बुन्देला, भरत सिंह चैहान, बलवन्त सिंह राजपूत, रवीन्द्र सिंह, रामनरेश पाठक, हरेन्द्र सिंह परमार, प्रमोद तिवारी, बृजेन्द्र सिंह, धर्मेंद्र सिंह, बोबी राजा बुन्देला, खलक सिंह समेत अनेकों किसान मौजूद रहे।

निर्वाचन के 48 घण्टे पहले सील हो जायेंगी सीमायें
डीएम-एसपी ने बैठक कर अधिकारियों को किया निर्देशित
ललितपुर। वर्तमान में चल रहे त्रिस्तरीय पंचायत सामान्य निर्वाचन को लेकर पुलिस लाइन स्थित मनोरंजन कक्ष में सीमावर्ती इलाकों से सम्बन्धित बैठक जिलाधिकारी डा.रूपेश कुमार की अध्यक्षता व पुलिस अधीक्षक प्रभाकर चैधरी की मौजूदगी में संपन्न हुई।
            बैठक में पंचायत चुनाव में ललितपुर से लगी मध्य प्रदेश की सीमाओं से आवागमन के अलावा अन्य महत्वपूर्ण बिन्दुओं पर विस्तार से चर्चा की गयी। डीएम ने कहा कि अंर्तप्रदेशीय नाके तथा चेक पोस्ट को सुद्रढ़ रूप से सक्रिय करते हुये चुनाव के दिन एवं उससे 48 घण्टे पहले सीमा को सील किया जाये। ऐसे जनपदों व स्थानों की सूची वहां के जिलाधिकारी से प्राप्त कर ली जाये। सीमावती क्षेत्रों में जहां-जहां शस्त्रों को जमा कराया जाना है, ऐसे गांवों की सूची तैयार कर शस्त्र जमा करने की कार्यवाही समय से पूरी की जाये। इसके अलावा उन्होंने अवैध शराब की बिक्री के खिलाफ सघनता पूर्वक अभियान चलाते हुये प्रतिबंधित किये जाने, सीमाओं पर आपराधिक गतिविधियों को रोकने के लिए विशेष सतर्कता एवं चैकसी बरते जाने, अपराधियों, हिस्ट्रीशीटरों एवं अन्य संदिग्धों पर पैनी नजर रखे जाने के साथ जो अपराधी बाहर आ गये हैं, उन्हें सर्विलांस किये जाने, अनाधिकृत वाहनों के संचालन विरूद्ध अभियान चलाये जाने, फर्जी सिम कार्ड के मामलों में अवरूद्ध, निरूद्ध किये जाने की कार्यवाही तेज किये जाने, सीमावर्ती इलाकों से दैनिक आवागमन पर नजर रखे जाने के अलावा प्रत्येक क्षेत्र में प्रभावी कार्यवाही के लिए अभिसूचना तंत्र को सक्रिय कर सीमावर्ती जनपदों व थानों से सतत संचार प्रचलित व्यवस्था को पुनरीक्षित किये जाने के निर्देश दिये गये। बैठक में जिलाधिकारी डा.रूपेश कुमार, पुलिस अधीक्षक प्रभाकर चैधरी, अपर जिलाधिकारी एम.के.त्रिवेदी, अपर पुलिस अधीक्षक सुधा सिंह के अलावा अन्य अधिकारी व कर्मचारी मौजूद रहे।

स्वच्छता अभियान की शुरूआत पहले घर से करनी होगी: नपाध्यक्ष
स्वच्छ भारत मिशन के तहत स्कूल में हुये आयोजन
ललितपुर। स्वच्छ भारत मिशन योजनान्तर्गत नगर पालिका बालिका इण्टर कॉलेज में नपाध्यक्ष सुभाष जायसवाल की अध्यक्षता तथा नगर स्वास्थ्य अधिकारी डा.राजेश भारती व अधिशाषी अधिकारी केएन शर्मा के संयुक्त मुख्य आतिथ्य में विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन किया गया।
सांस्कृतिक कार्यक्रमों, रंगोली प्रतियोगिता, निबन्ध प्रतियोगिता, वाद-विवाद प्रतियोगिता व भाषण प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। जिसमें विद्यालय की छात्राओं द्वारा स्वच्छ भारत मिशन के सम्बन्ध में अपने-अपने विचार व्यक्त किये गये।
            नपाध्यक्ष सुभाष जायसवाल ने छात्राओं से अपने घरो, मुहल्लो, परिवार में, विद्यालय में तथा अन्य परिवेश साफ-सफाई रखने का आहवान किया। नगर स्वास्थ्य अधिकारी ने नगर को साफ-स्वच्छ रखने में पालिका की अहम जिम्मेदारी बताते हुये उसकी शुरूआत अपने घरों से करने की बात कही। ईओ केएन शर्मा ने स्वच्छ भारत मिशन के सम्बन्ध में विस्तार से चर्चा की तथा छात्र-छात्राओं को स्वच्छता के सम्बन्ध में उक्त अभियान का महत्व बताया। इस दौरान नगर स्वास्थ्य अधिकारी डा.राजेश भारती, ईओ के.एन.शर्मा के अतिरिक्त विद्यालय की प्रधानाचार्या सुमनलता सोनकर, रामकुमार लवानिया, दिनेश बिरौनिया, रमाकान्त तिवारी, अभिषेक कुमार चैबे, चन्द्रविनोद मिश्रा, सुधीर रावत के अलावा विद्यालय की समस्त शिक्षिकायें एवं कर्मचारियों के साथ-साथ छात्रायें उपस्थित रहीं। संचालन शिक्षक पीटीआई ओमप्रकाश पटैरिया ने व आभार प्रधानाचार्या सुमनलता सोनकर ने व्यक्त किया।

तहसीलदार ने सौंपा चार लाख का चैक
ललितपुर। अपने बगीचा से घर जाते समय आकाशीय बिजली की चपेट में आने से मोहल्ला चैबयाना निवासी आशीष मालवीय की मौत हो गयी थी। इस मामले में आज आश्रित परिवार से आशीष मालवीय की धर्मपत्नी श्रीमती शालिनी को तहसीलदार सदर अवधेश निगम ने शासन की ओर से चार लाख रुपये का चैक सौंपा।



सेवानिवृत्त होने पर अपर जिला कृषि अधिकारी को दी गई विदाई
ललितपुर। 39 वर्ष की सेवा पूण करने के पश्चात् सेवानिवृत्त हुए महावीर प्रसाद दीक्षित ललितपुर कृषि विभाग में एक समारोह का आयोजन उप कृषि निदेशक कार्यालय परिसर में संपन्न हुआ। जिसमें 39 वर्षों की सेवा के पश्चात् सेवानिवृत्त हुए अपर जिला कृषि अधिकारी महावीर प्रसाद दीक्षित को विदाई दी गई।समारोह की अध्यक्षता उप कृषि निदेशक हंसराज ने की।
            इस दौरान वक्ताओं ने कहाकि श्री दीक्षित एक कर्मठ,ईमानदार व कर्तव्यनिष्ठ अधिकारी थे। वह किसानों की समस्याओं के समाधान के लिए सदैव तत्पर रहें।इनका सेवानिवृत्त होना विभाग के लिए अपूर्णनीय क्षति हैं।क्योंकि वह एक कुशल प्रशासक भी रहें हैं। विभागीय कार्यों के सफ ल क्रियान्वयन के लिए वह सदैव तत्पर रहें हैं। कर्मचारियों ने कहाकि श्री दीक्षित बहुमुखी प्रतिभा के धनी थे।विभागीय कार्यों के साथ .साथ वह कर्मचारियों के हितों की ल?ाई ल?ने के लिए तत्पर रहें हैं। कर्मचारियों पर आई विपदा में इन्होंने उनकी भरपूर मदद की है। इस दौरान उप कृषि निदेशक हंसराज ने कहाकि महावीर प्रसाद दीक्षित एक मिलनसार व्यक्ति थे।उनके भीतर किसी भी समस्या के समाधान की अद्भुत कार्यक्षमता थी। शासकीय कार्यों के सफल क्रियान्वयन के लिए उन्होंने भरपूर मेहनत की है। इस दौरान किसान नेता नवनीत शर्मा, सामाजिक कार्यकर्ता राजेश साहू, राहुल शुक्ला,जिला कृषि अधिकारी बृजेश कुमार,जिला उधान अधिकारी,कैलाश शर्मा,अशोक कुमार,प्रताप नारायण गोस्वामी,शंकर सिंह,रामबिहारी निरंजन, साहब सिंह यादव,मदन चतुर्वेदी, रामनारायण चैरसिया,भीम कुमार राठौर, तेजप्रताप सिंह आदि उपस्थित रहे। संचालन रामकृष्ण भारती ने किया।

कन्नौज में अधिवक्ता की हत्या पर जताया विरोध
जिला बार ने मुख्यमंत्री को भेजा ज्ञापन, उठायी कार्यवाही की मांग
ललितपुर। बार कौंसिल आफ ललितपुर के आह्वान पर जिला बार एसोशियेशन के अधिवक्ताओं ने धरना प्रदर्शन कर विरोध दिवस मनाया। इस दौरान जिला बार ने मुख्यमंत्री को संबोधित एक ज्ञापन जिलाधिकारी डा.रूपेश कुमार को सौंपा।
            ज्ञापन में अधिवक्ताओं ने प्रदेश की कानून व्यवस्था की स्थिति सुद्रढ़ करने की मांग करते हुये कन्नौज में मृत अधिवक्ता जितेन्द्र यादव के परिजनों को शासन से नौकरी व 50 लाख रुपये की आर्थिक सहायता राजकोष से दिलाये जाने की मांग को प्रमुखता से उठायी गयी। इसके अलावा अधिवक्ता पर हमला करने वालों के खिलाफ सख्त कार्यवाही किये जाने की बात भी कही गयी। ज्ञापन देते समय बार एसोशियेशन अध्यक्ष संजय चैबे, महामंत्री राजेश देवलिया के अलावा वरिष्ठ अधिवक्ता आनंद मालवीय, मनोहर सिंह ठाकुर, टी.एन.बिलगैंया, अजित जैन, अशोक त्रिपाठी, रामकिशोर मिश्रा, मुकुट बिहारी रावत, श्यामाकान्त चैबे, महिपाल ठाकुर, नवीन पटेल, पवन तिवारी, विजय सिंह, शम्भूदयाल शर्मा, शंकर सिंह निरंजन, नरेन्द्र नारायण शर्मा, घनश्याम वर्मा, बहादुर सिंह, मनीष पस्तोर, दर्शन बड़ौनिया, रमेशचंद्र, केहर सिंह, राकेश जैन, अरूण कुमार चैधरी, मुकुट बिहारी उपाध्याय, अनिल चैधरी, प्रेमचन्द्र जैन, सुरेश बाबू जैन, सुरेन्द्र सिंह राजपूत, जगत कुशवाहा, हरिओम शरण नायक, विजय सिंह, प्रकाश लोहिया, राधेश्याम, प्रताप नारायण गोस्वामी, नृपेन्द्र सिंह, मुकेश गुप्ता, जयन्त यादव, पुष्पेन्द्र सिंह, संतोष यादव, प्रीतम कुशवाहा, रामनाथ पाठक, काशीराम कुशवाहा, सुभाष जैन, सुरेन्द्र जैन, राजेन्द्र रजक, रामनरेश दुबे, अंकित जैन, रामगोपाल अहिरवार, सुनील देवलिया, नीरज मोदी, श्रीप्रकाश चैबे, श्रीबल्लभ करौलिया, इन्द्रभान सिंह, रामकृष्ण कुशवाहा, हरगोविंद अहिरवार, कंछेदी मालवीय, अरूण लोहिया, हरीशंकर नामदेव, वेदप्रकाश राय, राकेश शर्मा, जयकुमार समैया, एसडी पालीवाल, जगन अहिरवार, हरीराम राजपूत, भागीरथ कुशवाहा, हिमांशु हुण्डैत, चन्द्रप्रकाश, मनोहर चतुर्वेदी, अरविंद शुक्ला, नितिन, राकेश रजक, प्रतीश तिवारी, रामपाल आदि मौजूद रहे।

आचार संहिता का उल्लंघन पड़ा मंहगा
6 व्यक्तियों के खिलाफ कार्यवाही, एक वाहन सीज
ललितपुर। पंचायत चुनाव के मद्देनजर आयोग से जारी आदर्श आचार संहिता का कढ़ाई से पालन कराने के लिए प्रशासन व पुलिस काफी संजीदा है। ऐसे में संहिता का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ सख्त कार्यवाही अमल में लायी जा रही है। इसी क्रम में आज ऐसे ही अलग-अलग मामलों में छह वाहनों के खिलाफ कार्यवाही की गयी, जिसमें एक वाहन को सीज कर दिया गया। पुलिस ने थाना पूराकलां क्षेत्र के ग्राम नत्थीखेड़ा निवासी भगवानदास पुत्र बृजभान, चन्दन सिंह पुत्र नारायण सिंह, सुखाई पुत्र सुसयी, अंगद सिंह पुत्र मलखान सिंह, रामसहाय पुत्र मान सिंह व गुलाब सिंह पुत्र चैनू के खिलाफ कार्यवाही की है। आरोप है कि उक्त लोगों ने अपने वाहनों पर प्रचार करने वाले बैनर लगाये हुये थे तो वहीं वाहनों को भी बिना पार्किंग स्थल पर खड़ा कर दिया था, जिससे आचार संहिता के नियमों का उल्लंघन हुआ। सभी वाहनों को कोतवाली में लाकर चालान काट दिया गया।

नदी में शव मिलने से सनसनी
ललितपुर। शहर के बीचों-बीच से गुजरी शहजाद नदी में अपराह्न एक युवक का शव पड़ा मिलने से सनसनी फैल गयी। सूचना मिलने पर पहुंची पुलिस ने शव को अपने कब्जे में लेकर शिनाख्त के प्रयास किये। मृतक की शिनाख्त गोरी पुत्र सुके अहिरवार के रूप में की गयी। पुलिस ने शव का पंचनामा भर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

पीठासीन अधिकारियों को बतायी गईं बारीकियां
दो पालियों में संपन्न हुआ प्रशिक्षण सत्र
ललितपुर। त्र्रिस्तरीय पंचायत सामान्य निर्वाचन के प्रथम प्रशिक्षण के द्वितीय दिन प्रथम पाली में 800 पीठासीन अधिकारियों तथा 800 मतदान अधिकारी प्रथम व द्वितीय पाली में 282 पीठासीन अधिकारियों एवं 357 मतदान अधिकारी प्रथम को निर्वाचन कार्य सकुशल सम्पन्न कराने हेतु प्रशिक्षण प्रदान किया गया। राजकीय इण्टर कालेज सभागार सहित कालेज के सत्रह कक्षों में प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है। निर्वाचन से जुड़े कार्मिकों को प्रशिक्षित किये जाने हेतु विभिन्न विभागों के 52 अधिकारियों को मास्टर ट्रेनर्स के रुप में तैनात किया गया है।
            आज प्रशिक्षण सत्र के दौरान कार्मिकों को मतदान पेटिका, मतपत्र, निविदत्त मतपत्र, निर्वाचक नामावली की प्रतियां, पेपर सील, सांविधिक/असांविधिक प्रारूप, मत पेटी की जांच, अमिट स्याही, मतपत्र लेखा, पेपर सील लेखा, पीठासीन अधिकारी की डायरी को भरने हेतु सुभिन्नक मुहर, बास सील, सेरोक्रास रबर, मुहर से सम्बंधित विभिन्न बिन्दुओं के बारे में विस्तृत जानकारी प्रशिक्षण प्रदाताओं द्वारा प्रदान की गयी। मतदान दिवस को मतपेटी तैयार किये जाने, मतदान अभिकार्ताओं की तैनाती, प्रथम, द्वित्तीय तथा तृतीय मतदान अधिकारी के दायित्व के बारे में विस्तृत जानकारी प्रदान की गयी। प्रशिक्षण सत्र के दौरान मतदान केन्द्र में प्रवेश के अधिकारी व्यक्तियों के बारे में बताने के साथ ही चुनौती के मामले में मतदाता की पहचान तथा उसका सत्यापन (चैलेन्ज वोट) निविदत्त मत (टेन्डर वोट), अंधे व विकलांग, अशम्त मतदाताओं द्वारा मतदान की प्रक्रिया, लिफाफों की पैकेटिंग, सांविधिक तथा असांविधिक लिफाफों को सील बन्द किये जाने के बारे में विस्तार से बताया गया।
     इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी अरूण कुमार उपाध्याय ने भी निर्वाचन कार्मिकों को निर्वाचन से जुड़े महत्वपूर्ण निर्देशों के बारे में अवगत कराया। प्रशिक्षण सत्र को जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी ने भी सम्बोधित किया। इस अवसर पर परियोजना निदेशक डीआरडीए सुरेशचन्द्र मिश्र, डीसी मनरेगा नरेन्द्र देव द्विवेदी सहित अन्य अधिकारी तथा कर्मचारी उपस्थित थे। मतपेटिका को सील किये जाने सम्बंधी तकनीकी जानकारी अवर अभियंता लघु सिंचाई राजकुमार भदौरिया द्वारा प्रदान की गयी। सत्र के दौरान प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे कार्मिकों के प्रश्नों का उत्तर भी दिया गया। राइका सभागार में प्रशिक्षण सत्र का संचालन जिला सेवायोजन अधिकारी चन्द्रचूड़ दुबे द्वारा किया गया। दूसरे दिन प्रथम पाली में दो पीठासीन अधिकारी तथा चार मतदान अधिकारी एवं द्वितीय पाली में पांच पीठासीन अधिकारी तथा पांच प्रथम मतदान अधिकारी अनुपस्थित थे।

तीनों अवस्थायें जीवन में नूतन प्रयागराज रच देती हैं: प्रो.शर्मा
विश्व वृद्ध दिवस पर अभ्युदय संस्थान ने किया विचार मंथन
ललितपुर। सांस्कृतिक संस्था अभ्युदय द्वारा अंर्तर्राष्ट्रीय वृद्धजन दिवस पर श्री जगदीश सनातन सभागार में कार्यक्रम आयोजित किया गया। इस दौरान संस्था प्रमुख प्रो.भगवत नारायण शर्मा ने कहा कि प्रत्येक व्यक्ति जब युवावस्था, प्रौढ़ावस्था और वृद्धावस्था में पहुंचता है तो एक बच्चे का निश्च्छल कौतूहल, जवानी का जोश तथा बुढ़ापे की परिपक्वता एक साथ हिलौरें भरने लगती है। तीनों अवस्थाओं से सुपरिचित आयु की यह त्रिवेणी उसके जीवन में नूतन प्रयागराज की सृष्टि रच देती है। मानव जाति की परिपूर्णता उतारवय में सोने में सुगंध की तरह महकती है। प्रो.शर्मा ने आगे कहा कि मरणोपरान्त जीवन की परवाह न करते हुये जो वृद्ध इस चेतना के साथ अंतिम सांस लेता है कि उसने जो कुछ अपने अनुभव प्राप्त किया है, उसे खुश होकर नयी पीढ़ी के हाथों सौंप रहा तथा अभी भी मेरा दिल हर नूतन चीज के लिए खुला है। वह कब होकर भी जिन्दा है, परन्तु जिसका सोच हर क्षण नकारात्मक है, आगे के बजाय पीछे घसिट रहा है। अंत में प्रो.शर्मा ने कहा कि वृद्धावस्था को सुखमय बनाने के लिए संसार के संविधानों में लोक कल्याण कारी राज्य के अंतर्गत वृद्धों को पेंशन तथा मुफ्त इलाज जैसी सुविधायें दी गईं हैं। परन्तु असंगठित क्षेत्र के श्रमिक शिल्पकार एवं आर्थिक रूप से कमजोर वर्गों के लिए वृद्धावस्था बोझ बनकर अभिशाप न बन जाये, मानव जीवन का स्वर्णिम वरदान ही रहे। इस दिशा में अग्रसर होने के लिए प्रत्येक स्त्री-पुरुष को अपनी युवावस्था में रोजगार प्राप्त करने का मूल अधिकार मिलना चाहिए। तभी उनके वृद्धा माता-पिता का बुढ़ापा, देश की बहुमूल्य दौलत सिद्ध होगा। संगोष्ठी में आचार्य सत्यनारायण तिवारी, डा.पूरन सिंह निरंजन, रियाज अहमद, डा.पुनीत बिसारिया, डा.दीपा सिंधी, इन्दर राजा परमार, राजेश देवलिया, किशोरी शरण श्रीवास्तव, भन्तेलाल बाल्मीकि ने भी अपने विचार रखे। आभार चन्द्रविनोद हुण्डैत ने व्यक्त किया।

No comments:

Post a Comment