सरोकार की मीडिया

test scroller


Click here for Myspace Layouts

Sunday, September 13, 2015

ललितपुर समाचार, 14 सितंबर,2015 दैनिक सरोकार की मीडिया

ललितपुर समाचार, 14  सितंबर,2015 दैनिक सरोकार की मीडिया
  


दूसरे दिन भी जारी रहा शिक्षामित्रों का प्रदर्शन
काली पट्टी बाँधकर जताया हाईकोर्ट के फैसले का विरोध
ललितपुर। इलाहाबाद हाईकोर्ट ने शनिवार को दिये फैसले में शिक्षामित्रों के सहायक अध्यापक पद पर समायोजन को असंवैधानिक करार देते हुये सूबे की करीब पौने दो लाख नियुक्तियों की सरकारी कार्यवाही को रद्द कर दिया है। रद्द हुये समायोजन को लेकर शिक्षामित्रों का आक्रोश फूट पड़ा और शिक्षामित्रों ने अर्द्धनग्न होकर तुवन चैराहा से लेकर शहर भर में जोरदार प्रदर्शन किया। हाईकोर्ट के आदेश पर कड़ी आपत्ति व्यक्त करते हुये फैसले पर पुर्नविचार किये जाने की मांग की। शिक्षामित्रों ने फैसले के दूसरे दिन भी विरोध प्रदर्शन जारी रखा। कम्पनी बाग में इस फैसले को लेकर बैठक आयोजित की गयी। बैठक उपरान्त शिक्षामित्रों ने शहर में हाथों में काली पट्टी बाँधकर मौन जुलूस भी निकाला।
            कम्पनी बाग में आयोजित बैठक में वक्ताओं ने कहा कि प्रदेश सरकार ने राज्य में शिक्षामित्रों की तैनाती की थी। शिक्षामित्र को बच्चों में संस्कारित शिक्षा देने से लेकर अन्य सरकार कार्य भी सौंपे जाते हैं। जिन्हें पूर्ण निष्ठा से करते हुये शिक्षामित्र अपना दायित्व निभा रहे थे। शिक्षामित्रों को राज्य सरकार ने सहायक अध्यापक बनाये जाने की संस्तुति भी की। कहा कि शिक्षा मित्र से सहायक अध्यापक पद पर समायोजित होने के बाद शिक्षामित्रों का भविष्य संवारने का कार्य राज्य सरकार द्वारा किया गया। बावजूद इसके इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने समायोजन नियमावली में किये गये संशोधन व शिक्षामित्रों के सहायक अध्यापक पद पर किये गये समायोजन को असंवैधानिक करार दिया है। कहा कि हाईकोर्ट द्वारा सूबे भर में तैनात समायोजित सहायक अध्यापकों की नियुक्तियों पर की गयी सरकारी कार्यवाही को रद्द कर दिया है। हाईकोर्ट के इस फैसले से पौने दो लाख शिक्षामित्रों के साथ-साथ उनके परिजन भी प्रभावित हुये हैं। कहा कि समायोजन रद्द होने का सदमा कई जनपदों के शिक्षामित्र नहीं सह सके और उन्होंने आत्महत्या तक कर ली। वक्ताओं ने मांग करते हुये कहा कि हाईकोर्ट रद्द किये गये समायोजन पर पुर्नविचार करते हुये समायोजित सहायक अध्यापकों को यथावत रखें। वक्ताओं ने कहा कि इस मामले को लेकर सभी शिक्षामित्र दया याचिका लेकर भारत के महामहिम राष्ट्रपति के पास जायेंगे और इच्छा मृत्यु की मांग को पुरजोर तरीके से उठायेंगे।
            बैठक उपरान्त शिक्षामित्रों ने हाथों में काली पट्टी बाँध कर मौन जुलूस निकाला। यह मौन जुलूस कम्पनी बाग से शुरू होकर घण्टाघर पहुंचा, जहां से वीर सावरकर चैक होते हुये घण्टाघर पर सभी शिक्षामित्र एकत्र हुये। यहां शिक्षामित्रों ने नारेबाजी करते हुये हाईकोर्ट के फैसले के खिलाफ विरोध दर्ज कराया जायेगा। इस अवसर पर नीरज चतुर्वेदी, सुदामा प्रसाद दुबे, चन्द्रशेखर पंथ, भगवत सिंह बैस, अनन्त तिवारी, नन्दराम यादव, वृन्दावन, सिरनाम सिंह, कोमल, प्रीतम, रेखा रानी, प्रवेन्द्र कुमार, राजेश, प्रदीप, हरभजन, राघबेन्द्र यादव, सतेन्द्र सिंह, ताहर सिंह, सहित भारी संख्या में शिक्षामित्र उपस्थित रहे।

लेखपाल भर्ती परीक्षा शान्तिपूर्ण तरीके से संपन्न
ललितपुर में 16 केन्द्रों पर संपन्न हुई परीक्षा
ललितपुर। रविवार को ललितपुर में लेखपाल भर्ती परीक्षा को लेकर सोलह केन्द्रों पर परीक्षा शान्ति व शुचिता पूर्ण तरीके से संपन्न हुई। परीक्षा में अभेद्य सुरक्षा के साथ-साथ पर्यवेक्षण के लिए नामित अधिकारियों ने केन्द्रों पर जाकर व्यवस्थाओं का जायजा लिया।
            शहर ललितपुर में पहली बार आयोजित की गयी लेखपाल भर्ती परीक्षा के तहत नेहरू महाविद्यालय में 848, दीपचंद्र चैधरी महाविद्यालय में 720, पहलवान गुरूदीन महिला महाविद्यालय में 1008, रघुवीर सिंह महाविद्यालय में 408, मॉर्डन पब्लिक स्कूल में 504, दीवान रघुनाथ इंटर कालेज में 504, नगर पालिका बालिका इण्टर कालेज में 504, सरस्वती ज्ञान मंदिर बालिका इंटर कालेज में 408, जीजीआईसी में 720, किसान इंटर कालेज बिरधा में 1008, पीएन इंटर कालेज में 408, जीआईसी में 720, सुधा सागर इंटर कालेज में 504, वर्णी कालेज में 600, एसडीएस कान्वेन्ट में 969, छत्रपति शिवाजी एमएसडी कालेज में 1008 परीक्षार्थी नामांकित किये गये थे। इस प्रकार जिले में कुल 10 हजार 5 सौ 63 परीक्षार्थियों को पंजीकृत किया गया था। सुरक्षा की दृष्टि से नामित किये गये अधिकारियों ने केन्द्रों पर जाकर व्यवस्थाओं को देखा।
परीक्षा देने निकले युवक की मौत
लेखपाल भर्ती परीक्षा देने घर से निकले तेईस वर्षीय युवक की मौत हो गयी। आजादपुरा निवासी 23 वर्षीय शिवम अग्रवाल पुत्र राजदीप अग्रवाल सुबह लेखपाल भर्ती परीक्षा देने के लिए मोटर साइकिल से निकला था। चंद कदमों की दूरी पर ही वह गिर पड़ा, जिसे राहगीरों ने तत्काल जिला अस्पताल पहुंचाया। जहां मौजूद चिकित्सकों ने शिवम को मृत घोषित कर दिया। शिवम की मौत किस कारण से हुई है इसकी पुष्टि पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही पता चल सकेगा। हालांकि इस मौत को हार्ट अटैक से जोड़कर भी देखा जा रहा है।
दस शिक्षामित्र नहीं पहुंचे ड्यूटी पर
लेखपाल भर्ती परीक्षा में शिक्षामित्रों को तैनात किया गया था। परीक्षा दिवस से ठीक एक दिन पहले इलाहाबाद हाईकोर्ट द्वारा समायोजन को असंवैधानिक करार देते हुये रद्द कर दिया गया था। इस पर जिलाधिकारी जुहेर बिन सगीर ने शनिवार को देर शाम निर्देश जारी करते हुये सभी शिक्षामित्रों से तैनाती स्थलों पर पहुंचने को कहा था। बावजूद इसके रविवार को आयोजित लेखपाल भर्ती परीक्षा में 10 शिक्षामित्र नहीं पहुंचे। प्रभारी बीएसए चन्द्रचूड़ दुबे ने मामले को गंभीरता से संज्ञान लेते हुये सभी अनुपस्थित दस शिक्षामित्रों के खिलाफ कार्यवाही करने की बात कही है।

समयसीमा के अंदर मुहैया करायें सूचना: गजेन्द्र यादव
राज्य सूचना आयुक्त ने अधिकारियों के साथ की बैठक
ललितपुर। जनपद दौरे पर आये राज्य सूचना आयोग के सचिव गजेन्द्र यादव ने कलैक्ट्रेट भवन में अधिकारियों की बैठक लेते हुये कहा कि वह समय सीमा के अंदर नागरिकों द्वारा मांगी जाने वाली जन सूचनायें उपलब्ध करायें। यदि कोई अधिकारी इस कार्य में लापरवाही करता है तो उसके विरूद्ध कार्यवाही अमल में लायी जायेगी। उन्होंने कहा कि सूचना का अधिकार अधिनियम 2005 के अन्तर्गत प्रत्येक नागरिक का अधिकार है और वह सूचना के नियमों के तहत कोई भी जानकारी विभाग से मांग सकता है, अगर विभाग उसे जानकारी देने से मना करे या गुमराह करे तो वह इसके लिये ऊपर तक आवाज उठा सकता है और उसकी अपील को सर्वप्रथम लिया जायेगा एवं लापरवही मिलने पर संबंधित के विरूद्ध कार्यवाही की जायेगी। इस दौरान जिलाधिकारी जुहेर बिन सगीर, अपर जिलाधिकारी, उपजिलाधिकारी, अपर पुलिस अधीक्षक सुधा सिंह सहित समस्त विभागों के सूचना अधिकारी उपस्थित रहे।
            बैठक उपरान्त आयोजित पत्रकारवार्ता में राज्य सूचना आयोग के सचिव एवं द्वितीय अपीलीय अधिकारी गजेन्द्र यादव ने प्रेस वार्ता के दौरान पत्रकारों द्वारा पूंछे गये सवालों के जवाब में कहा कि उनके पास जनपद की 306 अपीले आई हुई है और उनके निस्तारण के लिये उन्होंने संबंधितो को निर्देशित भी कर दिया है। इसके अलावा पत्रकारों द्वारा पूंछे गये एक प्रश्र के उत्तर में उन्होंने कहा कि यदि कोई सूचना आपको 30 के अंदर नहीं मिलती है तो आप उसकी शिकायत करें न कि शंात रहकर अपनी सूचना को भूल जाये। इसके अलावा उन्होंने कहा कि वह तीन मण्डलों के सूचना के अधीन है, और उनके पास लगभग 12000 फाईले सूचना से संबंधित प्राप्त हो चुकी है।

कच्ची अवैध शराब समेत छह महिलायें हिरासत में
आबकारी विभाग ने शहर के विभिन्न क्षेत्रों में दी दविश
ललितपुर। शराब की अवैध बिक्री पर प्रभावी तरीके से अंकुश लगाने को लेकर जिला व पुलिस प्रशासन काफी सख्त है। आसन्न त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में शराब के वर्चस्व को जड़मूल से समाप्त करने के लिए आबकारी विभाग भी काफी सक्रिय नजर आ रहा है। प्रतिदिन अवैध शराब के ठिकानों पर आबकारी विभाग द्वारा दविश दी जा रही है, जिसमें सैकड़ों लीटर अवैध कच्ची शराब बरामद भी की जा चुकी है।
            इसी क्रम में रविवार को आबकारी निरीक्षक वी.के.सिंह के नेतृत्व में शहर के विभिन्न स्थानों पर अवैध शराब की बिक्री के खिलाफ दविश दी गयी। दविश के दौरान आबकारी टीम ने सौ लीटर अवैध शराब के साथ आधा दर्जन महिलाओं को भी हिरासत में लिया है। पकड़ी गयी महिलाओं में गोविंद सागर बांध के निकट से रेशमी पत्नी महेश के पास से 15 लीटर, सिद्धन के पास से रवीना पत्नी महेन्द्र के पास से 17 लीटर, रूबी पत्नी सुम्मेर के पास से 20 लीटर, रेलवे स्टेशन के पास से कुन्जा पत्नी रोहित के पास से 40 लीटर व मनीष पुत्री पुरुषोत्तम के पास से 8 लीटर अवैध कच्ची शराब बरामद की गयी है। पकड़ी गयीं महिलाओं के खिलाफ आबकारी अधिनियम के तहत कार्यवाही की गयी है।

जात-पात से ऊपर उठकर कार्य कर रही भाजपा: शुक्ल
नगर भाजपा व जाखलौन मंडल का दो दिवसीय प्रशिक्षण वर्ग संपन्न
ललितपुर। नगर भाजपा एवं जाखलौन मण्डल द्वारा पं.दीनदयाल उपाध्याय प्रशिक्षण महाभियान श्रीगिरीराज इण्टर कालेज महेशपुरा में दो दिवसीय प्रशिक्षण वर्ग का आयोजन किया गया। जिसमें सक्रिय सदस्य एवं पदाधिकारियों को प्रशिक्षण दिया गया।
            इस प्रशिक्षण में प्रदेश के पूर्व बेसिक शिक्षा मंत्री रविन्द्र शुक्ल ने मुख्य वक्ता के रूप में कहा कि हमारी पार्टी का अधिष्ठान कोई व्यक्ति या नेता विशेष नहीं है, न ही परिवार या वंश और न ही जाति मजहब, वरन हमारा अधिष्ठान सिद्धान्त में है। हमारे सिद्धान्त की अभि व्यक्ति भारत माता की जय उदघोष से होती है। यह उदघोष हमारी सिद्धान्त बीज मूल आधार है। इसलिए हमें राष्ट्रवादी कहा जाता है। प्रशिक्षण के द्वितीय प्रशिक्षण में भाजपा जिलाध्यक्ष प्रदीप चैबे ने बताया कि मोदी सरकार सबका साथ सबका विकास के सिद्धान्त को लेकर सरकार आगे बढ़ रही है और देश के विकास के लिए तत्पर हैं। सरकार अनुसूचित जनजातियों के सर्वागीर्ण विकास के लिए वन बन्धु कल्याण योजना, कन्या सशक्तिकरण के लिए बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ कार्यक्रम, सुकन्या समृद्धि योजना तथा साथ ही भीषण बीमारियों के लिए टीकाकरण कार्यक्रम, मिशन इन्द्रधनुष तथा राष्ट्रीय स्वच्छ भारत मिशन और गंगा सफाई के लिए नमामि गंगे मिशन, अटल पेंशन योजना, प्रधानमंत्री जन-धन योजना जैसी अनेकों योजनाओं का संचालन कर रही है, जिससे देश विकास की ओर अग्रसर है। प्रशिक्षण के अगले सत्र में मुख्य वक्ता के रूप में क्षेत्रीय अध्यक्ष रामरतन कुशवाहा ने पार्टी के इतिहास एवं विकास के बारे में कार्यकर्ताओं को भारतीय जन संघ के उदय से भाजपा के निर्माण तक और भाजपा द्वारा अब तक तय किये गये सफर की जानकारी दी। जिला महामंत्री बब्बू राजा बुन्देला ने कार्यकर्ताओं को पार्टी की कार्यपद्धति और पार्टी की स्पर्शी एवं सर्वव्यापी स्वरूप की जानकारी दी। बताया कि भाजपा एक सर्वस्पर्शी पार्टी है। यह जात-पात और धर्म से ऊपर उठकर कार्य कर रही है। इस दौरान भगवत दयाल सिंधी ने कार्यकर्ताओं को देश के सम्मुख चुनौतियों के बारे में बताया कि मोदी सरकार किस प्रकार इन चुनौतियों से निपटने में सक्षम है। राष्ट्रीय परिषद सदस्य डा.ओमप्रकाश श्रीवास्तव ने बताया कि राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ एक राष्ट्रवादी विचारधारा से जुड़ा सामाजिक संगठन है। यह संगठन हमारी पार्टी का हिस्सा नहीं है, वरन अपनी पार्टी इस विचार का हिस्सा है। जिनके आधार पर ये संगठन संचालित हो रहे हैं। सबकी प्रेरणा का एक ही श्रोता है वन्दे मातरम्। प्रशिक्षण वर्ग में हरीराम निरंजन, महेश श्रीवास्तव भैया, पार्षद अनुराग जैन शैलू, दीपक जायसवाल, अभय जैन, सुरेश कौंते, रत्नेश तिवारी, धु्रव सिंह सिसौदिया, दीपक वैद्य, दीपक पाराशर, रूपेश साहू, राजेश लिटौरिया, अविनाश देशमुख, कमलेश नामदेव, रामकुमार नामदेव, आशीष तिवारी, यंगवीर सिंह यादव, बब्लू अग्रवाल, रानू तिवारी, पप्पू पाल, कल्लू साहू, अशोक अहिरवार, मुकेश अहिरवार, रविन्द्र शर्मा, पूरन लाल वंशकार, के.के.पंथ, रमन चैरसिया, अभिषेक सोनी, आशीष सैनी, मौसम नायक, देवेन्द्र गुरू, संतोष सेंगर, शशि राठौर, अर्चना राजपूत, लक्ष्मी रावत, राखी विश्वकर्मा, रजनी अहिरवार, आकाश गुप्ता आदि मौजूद रहे।

पर्यूषण पर्व पर मांस व शराब बिक्री को बंद करने की मांग
दिगम्बर जैन महासमिति मड़ावरा ने बैठक कर उठाया मुद्दा
ललितपुर। महाराष्ट्र, राजस्थान, छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा पर्यूषण पर्व पर मांस व शराब की बिक्री पर रोक लगाने एवं जम्मू कश्मीर उच्च न्यायालय द्वारा गौ मांस पर प्रतिबंध लगाये जाने के फैसले का दिगम्बर जैन महासमिति मड़ावरा इकाई ने स्वागत किया है। महावीर विद्याबिहार प्रांगण में इस सम्बन्ध में एक बैठक का आयोजन अध्यक्ष डा.राकेश सिंघई की अध्यक्षता में संपन्न हुई।
            बैठक में वक्ताओं ने कहा कि मुम्बई महानगर पालिका द्वारा जैन धर्म के पर्वराज पर्यूषण को देखते हुये राज्य में मांस बिक्री पर रोक लगायी गयी है। महानगर पालिका के इस महत्वपूर्ण फैसले पर शिवसेना प्रमुख द्वारा विरोध दर्ज कराते हुये गलत बयानबाजी की जा रही है। वक्ताओं ने यह भी कहा कि शिवसेना कार्यकर्ता पूरे महाराष्ट्र में खुलेआम मांस की बिक्री कर रहे हैं, जो कि सोशल मीडिया व टीवी चैनलों के माध्यम से दिखाया भी जा रहा है। प्रवक्ता रमेशचंद्र जैन ने कहा कि भारत देश की संस्कृति अहिंसा को मानने वाली है। मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्रीराम व भगवान महावीर आज भी हमारे आदर्श हैं। महामंत्री पुष्पेन्द्र जैन ने कहा कि शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे द्वारा मांसाहार के समर्थन में जो आवाज उठायी गयी है, वह निन्दनीय है। हमारी भारतीय संस्कृति में राष्ट्रप्रेम व जीव दया की बात कही गयी है। आज समूचे देश में जैन-जैनेत्तर अहिंसक समाज शाकाहारी है। भारत के पूर्व राष्ट्रपति डा.एपीजे अब्दुल कलाम ने भी अहिंसा व शाकाहार का पूर्ण समर्थन किया। स्वस्ति महिला मण्डल अध्यक्ष ममता जैन ने कहा कि हमारा भारत देश अहिंसक देश है। हमारे ऋषि-मुनियों ने भी कहा है कि जब तक हमारे देश की संस्कृति सुरक्षित रहेगी, तब तक हम सुरक्षित रह पायेंगे। राष्ट्रपिता महात्मा गाँधी ने अहिंसा के बल पर ही देश को आजाद कराया। महासमिति के पदाधिकारियों ने उत्तर प्रदेश सरकार व जिला प्रशासन से अन्य राज्यों की भांति पर्यूषण पर्व पर 18 से 27 सितम्बर तक मांस की बिक्री पर प्रतिबंध लगाने की पुरजोर मांग की है। संचालन नीलेश जैन ने किया। बैठक में डा.बिरधीचंद्र जैन, डा.राकेश सिंघई, देवेन्द्र सराफ, डा.शिखरचंद्र सिलौनिया, सुमत मोदी, राकेश सागर, राजेन्द्र जैन, अखिलेश सिंघई, राजीव सिलौनिया, अनिल, रमेशचंद्र जैन, धर्मेंद्र सराफ, ऊषा जैन, ममता जैन, कामिनी जैन, प्रीति जैन, पल्लवी जैन, अंकिता जैन, सुप्रिया जैन, रूबी जैन, अनीता जैन, समता जैन, पलक जैन, रितु सिलौनिया, पिंकी बजाज आदि मौजूद रहे।

राष्ट्रीय दलित महासंघ की जिला कार्यकारिणी गठित
ललितपुर। राष्ट्रीय दलित महासंघ जिला कार्यकारिणी की एक आवश्यक बैठक कम्पनी बाग में आयोजित की गयी। बैठक में सर्वसम्मति से प्रस्ताव पारित करते हुये राजेश बाल्मीकि को जिलाध्यक्ष घोषित किया गया। इसके साथ ही जिला कार्यकारिणी का विस्तार करते हुये जिला कार्यवाहक अध्यक्ष सीताराम बाल्मीकि, जिला महासचिव अमित बाल्मीकि, जिला वरिष्ठ उपाध्यक्ष राजकुमार नाहर, जिला प्रवक्ता दीपक घावरी, जिला सलाहकार नितिन नरया, जिला सचिव राजकुमार बग्गन, जिला कोषाध्यक्ष रजनीश सफेरा, जिला संयोजक भगत बागरेले, जिला मीडिया प्रभारी ओमप्रकाश अहिरवार के अलावा सदस्यों में अशोक कप्तान, नन्दलाल अहिरवार, शिवम, बृजेन्द्र सफेरा, सतेन्द्र घावरी, सुरेन्द्र सफेरा, कपिल घावरी, अंकित, कमलेश बागरेले, पृथ्वी बाल्मीकि, प्रिंस बाल्मीकि को शामिल किया गया है।

ग्रापए की आवश्यक बैठक संपन्न
ललितपुर। ग्रामीण पत्रकार एसोशियेशन तहसील ललितपुर इकाई की एक महत्वपूर्ण बैठक अमर शहीर पं.गणेश शंकर विद्यार्थी भवन में तहसील अध्यक्ष कन्हैयालाल विश्वकर्मा की अध्यक्षता में संपन्न हुई। जबकि मुख्य अतिथि के रूप में ग्रापए जिलाध्यक्ष सुदामा प्रसाद दुबे मौजूद रहे। बैठक में संगठन सदस्य गोपी प्रसाद भारती के साथ पुलिस द्वारा अभद्रता कर फर्जी मुकद्दमें में फंसाये जाने की निंदा की गयी। वहीं दूसरी ओर झांसी में 19 सितम्बर को ग्रापए का मण्डल स्तरीय सम्मेलन का आयोजन आयोजित किया गया है। जिसमें संगठन सदस्यों से भारी संख्या में उपस्थित होने की अपील की गयी। बैठक में अवतार सिंह यादव, जमना प्रसाद यादव, लल्लूराम शर्मा, जगदीश प्रसाद, भगवान सिंह, गोपी प्रसाद, शत्रुघ्न शुक्ला, रामसेवक विश्वकर्मा, संजीवन अहिरवार, राजेश कुमार पाठक आदि मौजूद रहे। संचालन तहसील संरक्षक लक्ष्मी नारायण विश्वकर्मा ने किया।

No comments:

Post a Comment