सरोकार की मीडिया

test scroller


Click here for Myspace Layouts

Friday, September 11, 2015

ललितपुर समाचार, 12सितंबर,2015 दैनिक सरोकार की मीडिया

ललितपुर समाचार, 12सितंबर,2015 दैनिक सरोकार की मीडिया

नगर पालिका की जमीन पर अवैध कब्जा करने का आरोप
मोहल्लेवासियों ने जिलाधिकारी को ज्ञापन भेजकर उठायी कार्यवाही की मांग
ललितपुर। नगर पालिका परिषद द्वारा लेडिय़ापुरा व आजादपुरा तृतीय में किये जा रहे नाली निर्माण के कार्य में बाधा डालते हुये नपा की जमीन पर अवैध तरीके से कब्जा करने का आरोप लगाया गया है। इस सम्बन्ध में मोहल्लेवासियों ने कब्जा करने के खिलाफ जिलाधिकारी को एक शिकायती पत्र भी भेजा है।
            मोहल्लेवासियों ने बताया कि मोहल्ले में विगत 3-4 वर्षों से जल भराव की समस्या विकराल हो रही है। नगर पालिका व प्रशासनिक अधिकारियों के सहयोग से समस्या के निदान को लेकर यहां नाली निर्माण का कार्य किया जा रहा है।बताया कि ठेकेदार द्वारा सरस्वती शिशु मंदिर के पीछे सोलंकी वाली गली में रिपटे पर एक छोटी सी पुलिया बनाकर आगे सीरोठिया व मिश्रा जी के महान तक खण्ड लगाकर सीमा बनायी गयी है, जिसमें नाली निर्माण किया जाना है। बताया कि 9 सितम्बर की रात करीब 11 बजे एक दबंग परिवार द्वारा अज्ञात साथियों के साथ मिलकर नाली सीमा के बीच में गड्ढा खोद कर पिलर बना लिया है, जिसमें अनावश्यक विवाद खड़ा हो गया है। इस कारण नाली निर्माण कार्य भी रूका पड़ा है। बताया कि जल भराव से प्रभावित लोगों ने जब इसका विरोध किया तो उक्त लोगों ने अभद्रता शुरू कर दी। मोहल्लेवासियों का आरोप है कि उक्त लोग जबरन नाली के निकट नगर पालिका की जमीन पर अवैध तरीके से कब्जा करना चाहते हैं जिससे जल भराव की समस्या नाली निर्माण के बाद भी जस की तस बनी रहेगी। मोहल्लेवासियों ने जिलाधिकारी से उक्त समस्या के निस्तारण के लिए नाली निर्माण के बीच में नगर पालिका की जमीन पर किये गये अवैध कब्जे को हटवाये जाने की मांग को पुरजोर तरीके से उठाया है। ज्ञापन देते समय अशोक कुमार कटारे, ऋषभ जैन, रामसेवक तिवारी, महेन्द्र सिंह, भोलेशंकर पाराशर, जयनरारायण आदि मौजूद रहे।
डीएम को ज्ञापन भेजकर उठायी प्रभावी कार्यवाही की मांग
ललितपुर। किसानों को बर्बाद हुई खरीफ की फसल का सर्वे कार्य जल्द पूरा कराते हुये मुआवजा दिलाये जाने की मांग को लेकर भारतीय किसान यूनियन भानु गुट ने जिलाधिकारी को एक ज्ञापन भेजा है। साथ ही ग्राम भौंरदा के किसानों ने भी मुआवजे की मांग उठायी है।
            ज्ञापन में भारतीय किसान यूनियन भानु गुट जिलाध्यक्ष बॉबी राजा पटसेमरा ने बताया कि पिछले वर्ष का अतिवृष्टि व ओलावृष्टि का मुआवजा कई गांवों के किसानों तक नहीं पहुंचा है। बावजूद इसके किसानों ने किसी प्रकार अपनी आर्थिक तंगी के बाद भी उड़द की फसल बोई थी। लेकिन बारिश न होने से उड़द की फसल में पीला रोग लग गया था, जिससे फसल बर्बाद हो गयी थी। उन्होंने किसानों के खेतों का जल्द सर्वे कराते हुये मुआवजा दिलाये जाने की मांग को पुरजोर तरीके से उठाया है। इसी प्रकार ग्राम भौंरदा के किसानों ने बारिश न होने के कारण किसानों के खेतों में खड़ी उड़द की फसल का मुआवजा दिलाये जाने की मांग की है। ज्ञापन देते समय जिलाध्यक्ष बॉबी राजा पटसेमरा, प्रमोद तिवारी, राजेन्द्र सिंह, राघवेन्द्र सिसौदिया, बलवंत सिंह राजपूत, कमल सिंह, सीताराम तिवारी, जगदीश प्रसाद, अशोक कुमार, सुकराम, कोमल, इन्द्रपाल, नाथूराम, खुशीलाल, कमलेश, हरपाल सिंह, केहर, किशन, रामप्रसाद, गुविन्दी, अजुद्दी, काशीराम, प्रभू, पूरन, गलू, नंदू, कूरा, भूरी, साबिर मंसूरी, सुम्मेर सिंह, बालचंद्र, दिनेश समेत अनेकों किसान मौजूद रहे।

नयागांव में कब्रिस्तान के लिए मांगी जमीन
ग्रामीणों ने डीएम को ज्ञापन भेजकर उठायी मांग
ललितपुर। राजघाट बांध के बन जाने के बाद ब्लाक बिरधा अंतर्गत ग्राम नयागांव स्थित कब्रिस्तान की जमीन डूब क्षेत्र में चली गयी थी। तब से उक्त गांव में कब्रिस्तान बनाने को स्थान शेष नहीं हैं। गांव में कब्रिस्तान बनाये जाने के लिए भूमि उपलब्ध कराने की मांग को लेकर ग्रामीणों ने एक ज्ञापन जिलाधिकारी को भेजा है।
            ज्ञापन में बताया कि पूर्वजों के समय से ग्राम नयागांव में कब्रिस्तान के लिए भूमि हुआ करती थी। राजघाट बांध बन जाने से उक्त कब्रिस्तान की जमीन डूब क्षेत्र में आ गयी। उक्त भूमि पर पानी भरा रहने के कारण स्थान उपर्युक्त नहीं रहा है। बताया कि इस सम्बन्ध में कई बार तहसील दिवस में प्रार्थना पत्र भी दिये गये। बावजूद कार्यवाही नहीं की गयी। बताया कि जिलाधिकारी के आदेशानुसार गांव की भूमि संख्या 1054 रकवा 0.265 हे. का प्रस्ताव गांव समाज नयागांव की बैठक में 5 दिसम्बर 2012 में प्रस्ताव पारित किया गया था और उक्त पारित तहसील में भी जमा हो गया है। लेकिन आज तक उक्त प्रस्ताव स्वीकृत हुआ है और न ही हम लोगों को कब्जा दिया गया है। बरसात का समय आने वाला है ऐसे किसी परिवार में गमी हो जाती है तो शव लेकर ललितपुर कब्रिस्तान आना पड़ता है। ऐसी स्थिति में गांव में कब्रिस्तान के लिए जमीन प्रस्तावित स्वीकृत किये जाने की मांग की है। ज्ञापन देते समय अजिम खां, नबाजी खां, मु.अनीश, मु.असलम, जलील खां, अमजत खां, फिरोज खां, इसराइल खां, आशिक मंसूरी, मुजफ्फर खां, अरसिद खां, आशिव, इरफान, रमजान खां, सलमान खां, आजाद खां, इकबाल खां आदि मौजूद रहे।

धरती माता अपने निर्धन व धनी बेटे में भेदभाव नहीं करती: प्रो.शर्मा
सौम्य संत आचार्य विनोबा भावे के जन्मोत्सव पर परिचर्चा संपन्न
ललितपुर। भारतीय ऋषियों की परम्परा में आधुनिक युग के विलम्बकारी सौम्य संत आचार्य विनोबा भावे का जन्मोत्सव संत भूदान आश्रम समिति ककरूवा के तत्वाधान में प्रधान दशरथ प्रसाद राजपूत की अध्यक्षता में आयोजित अवध कुटी सभा में अगाद्ध श्रृद्धा के साथ मनाया गया। शुभारंभ में विनोबाजी के चित्र पर सभी श्रृद्धालुओं ने सूत की माला और खादी के फूल अर्पित किये।
            इस अवसर पर विशेष अतिथि वक्ता नेमवि पूर्व प्राचार्य प्रो.भगवत नारायण शर्मा ने अपने उद्बोधन में कहा कि वे बुद्ध की करूणा और शंकराचार्य के ज्ञान के समन्वय स्वतंत्र भारत में लगातार तेरह वर्षों तक पैदल घूमें। पृथ्वी के घेरे से भी अधिक अर्थात 36 हजार 500 मील के लगभग उन्होंने पदयात्रा करके 44 लाख एकड़ जमीन दान में प्राप्त कर भूमिहीनों में बांट दी। विनोबाजी जनता को समझते थे कि जिस प्रकार माता अपने धनी और निर्धन बेटे में भेदभाव नहीं करती। वैसे ही धरती माता भी नहीं करती। मैं ही धरती माता का निर्धन 6वां बेटा हँू। हमें मानवदेह दूसरों को सुख देने के लिए नहीं उनके आंसू पौंछने के लिए मिली है।
            राष्ट्रीय जनचेतना मंच संयोजक राजेन्द्र रजक ने कहा कि जमीन की दिन व दिन जटित होती जा रही समस्या निदान निसंदेह विनोबाजी के विचारों में सन्निहित है। इसलिए कल की तुलना में आज वे ज्यादा प्रासांगिक है। संस्कृताचार्य डा.ओमप्रकाश शास्त्री ने गांधी विनोबा को ऐसी चमकीली ज्योति निरूपित किया जाये, जिसे कोई नहीं बुझा सकता। राघवेन्द्र सिंह सिमिरिया ने कहा कि समता की शीतल छांव तले विनोबा समृद्धि की बेललहलहा ना चाहते थे। इस अवसर पर डा.रामकुमार रिछारिया, डा. हरिश्चंद्र दीक्षित, जगदेव सिंह चैहान, राजेश दुबे, ब्रजकिशोर जैन, डा.राजेन्द्र श्रीवास्तव, सुन्दरलाल, कुसुम रजक, सुषमालता श्रीवास्तव आदि ने विचार रखे।

निधन पर जिला बार एसोशियेशन ने जताया शोक
ललितपुर। जिला बार एसोशियेशन की एक बैठक संपन्न हुई। बैठक में जिला बार के कनिष्ठ कार्यकारिणी सदस्य महेन्द्र कुमार जैन झब्बू की पूज्यनीय माताजी के निधन पर गहरा शोक व्यक्त किया गया। उनकी अंतिम यात्रा में बार एसोशियेशन के अधिवक्ता भी शामिल हुये। साथ ही अपराह्न 2 बजे से सभी अधिवक्ता न्यायिक कार्य से विरत रहे। सभा में अध्यक्ष संजय चैबे, महामंत्री राजेश देवलिया, कपूरचंद्र जैन, नंदराम जायसवाल, गोविंद नारायण सक्सेना, सुभाष रोडा, के.एल.मालवीय, काशीराम कुशवाहा, सौरभ जैन, टी.एन.बिलगैंया, नवीन पटेल, कोषाध्यक्ष केदारनाथ पटेल, शम्भूदयाल शर्मा, अंकित जैन, शंकर सिंह निरंजन, प्रीतम पटेल, प्रदीप कुमार अगरिया, सुरेन्द्र सिंह राजपूत, हरीओम शरण नायक, रामगोपाल अहिरवार, जगदीश प्रसाद, केहर सिंह, नरेन्द्र नारायण शर्मा, घनश्याम वर्मा, दिनेश कुमार गोस्वामी, दीपक सक्सेना, रमेशचंद्र कुशवाहा, दर्शन बड़ौनिया, सुधीर कुमार निगम, मनीष पस्तोर, राजेश दुबे, प्रभूदयाल सेन, प्रतीश तिवारी, विजय सराफ, संतोष यादव, गोविन्द नारायण गुप्ता, संतोष यादव समेत अनेकों अधिवक्ता मौजूद रहे।

जैनधर्म से मिली जीवन जीने की कला: आर्यिकाश्री
क्षेत्रपाल मंदिर में धर्मप्रभावना जारी
ललितपुर। संत समागम और स्वाध्याय ऐसे है जिनके माध्यम से जीवन को संवारने की शिक्षा श्रावक को मिलती है लेकिन भौतिकता की धधकती आग में व्यक्ति इससे कोसों दूर भाग रहा है। समयसार ही ऐसा ग्रंथ है जिसके प्रभाव से दुराचारी व्यक्ति भी सदाचारी बन जाता है। आर्यिका पूर्णमति माता जी ने क्षेत्रपाल मंदिर में धर्मसभा को सम्बोधित करते हुए कहा कि जैन धर्म ही ऐसा माध्यम है जहां जीवन जीने की कला बताई गई है। व्यक्ति को पशु योनि अच्छी तो नहीं लगती लेकिन उसके द्वारा जो कार्य किए जाते हैं उनको अपनाता है। आत्मा की आराधना के लिए ज्ञान शिविर को उपयोगी बताते हुए उन्होने कहा कि इसके लिए श्रावकों को भावना जरूरी है।
आचार्यश्री का चित्र अनावरण अरविन्द जैन, देवेन्द्र जैन, रमेश सर्राफ ने किया जबकि दीपप्रज्जवलन विनोद जैन, सुरेश चंद ने संयुक्त रूप से किया। आर्यिकाश्री को शास्त्र पूर्व केन्द्रीय मंत्री प्रदीप जैन आदित्य एवं हरियाणा सरकार के लघु उद्योग निगम के अध्यक्ष दीपक जैन ने संयुक्त रूप से भेंट किया। सभा में प्रमुख रूप से विनोद जैन, सुरेशचंद गंगवाल, किरण लश्करे सनावत आदि मौजूद रहे। मंगलाचरण विद्या जैन ने किया। मौके पर पंकज टडैया, संजीव नायक, शोभित समैया ने प्रतीक चिन्ह भेंट कर सम्मानित किया। सभा में नरेन्द्र कडंकी ने पूर्यषण पर्व पर आर्यिकाश्री के सानिध्य में लगने वाले दस दिवसीय श्रावक संस्कार शिविर की उपयोगिता पर प्रकाश डालते हुए कहा कि ऐसे शिविर सभी को नैतिकता की सच्ची पाठशाला है जिसमें श्रावकों को कुछ सीखने का मौक मिलता हैं। उन्होने शिवसेना प्रमुख उद्धभ ठाकरे द्वारा मासाहार के समर्थन की निन्दा करते हुए कहा कि बालासाहव ठाकरे समग्र हिन्दू समाज के हितचिंतक रहते हुए जीवदया गौरक्षा की बात जीवन भर करते रहे उन्हीं के पुत्र आज अपने पिता के बताए रास्ते से विपरीत चल पडे। धर्मसभा का संचालन डा.अक्षय टडैया ने किया ।

शिवसेना प्रमुख का मांसाहर को समर्थन निन्दनीय: प्रदीप जैन
ललितपुर। पूर्व केन्द्रीय मंत्री प्रदीप जैन आदित्य ने शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे द्वारा  मांसाहार के समर्थन में जो आवाज उठाई है उसकी निन्दा करते हुए कहा कि इस तरह की वोट की राजनीति से परे राष्ट प्रेम व जीव दया की वात करनी चाहिए जो हमारी भारतीय संस्कृति है।  आज समूचे देश में जैन-जैनेतर अहिंसक समाज शाकाहारी है पूर्व राष्टपति अब्दुल कलाम ने भी शाकाहार का समर्थन किया है ऐसे अहिंसक समाज का विरोध निन्दनीय है। शिवसेना प्रमुख तुष्टीकरण की राजनीति छोडें अन्यथा इसका अहिंसक समाज उन्हें करारा जबाब देगी। पूर्व केन्द्रीय मंत्री जैन ने आज क्षेत्रपाल मंदिर में धर्मसभा के दौरान उक्त विचार व्यक्त किए। गौरतलव रहे कि शिवसेना ने जैन समाज के लोगों को धमकी देते हुए कहा कि मुसलमानों की तरह तुश्टिकरण की राह पर न चलें जिसपर जैन समाज में आक्रोश है और ठाकरे के कृत्य की निंदा सर्वत्र हो रही है।

राज्य में लगे पर्यूषण पर्व पर मीट की विक्री पर प्रतिबंध
शिवसेना प्रमुख की अर्नगल टिप्पणी को जैन समाज ने बताया निन्दनीय
ललितपुर। महाराष्ट्र राजस्थान सरकार द्वारा पर्यूषण पर्व पर मांस की बिक्री पर रोक लगाने तथा जम्मू काश्मीर में मा0 उच्च न्यायालय द्वारा गौ मांस पर प्रतिबंध का जैन समाज ने स्वागत किया। उ0 प्र0 सरकार से पर्यूषण पर्व पर मीट की बिक्री पर प्रतिबंध लगाने की पुरजोर मांग की। दि0जैन पंचायत की बैठक में वक्ताओं ने शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाक रे द्वारा पर्यूषण पर्व पर लगाए गए मांस विक्री को लेकर अनर्गल व्यानवाजी करने की कटु निन्दा करते हुए सर्वसम्मति से प्रस्ताव पारित किया। वक्ताओं ने कहा भारत देश की संस्कृति अहिंसक है भगवान श्री राम एवं भगवान महावीर हमारे आदर्श हैं। राष्टपिता महात्मागांधी ने अहिंसा के वल पर ही देश को आजादी दिलाई। हमारे देश के महर्षि साधू संत कभी भी हिंसा का समर्थन करते ऐसे में अहिंसा की बात करना कोई अपराध नहीं है। वक्ताओं ने कहा कि जव हमारे देश की संस्कृति यदि सुरक्षित रहेगी तभी हम सुरक्षित रहेंगे। बैठक की अध्यक्षता दिगम्बर जैन पंचायत के अध्यक्ष अनिल जैन अंचल ने की जवकि संचालन महामंत्री डा0 अक्षय टडैया ने किया। इस मौके पर संयोजक प्रदीप जैन सतरवांस, श्रीमती मीना इमलिया, आनंद जैन,मुकेश सर्राफ, अक्षय अलया, राजेन्द्र जैन थनवारा, पंकज मोदी, संजय मोदी, संजीव जैन, नीरज मुल्लन, मनोज सिंघई, गेंदालाल सतभैया, वीरेन्द्र जैन, अरविन्द जैन अंकुर, सतेन्द्र गदयाना, जिनेन्द्र जैन थनवारा, अभिषेक जैन अनौरा, विजय जैन नेता, आनन्द चैधरी, विजय जैन काफी हाऊ स, जिनेन्द्र जैन डिस्को, सुधीर जैन सिवनी आदि  मौजूद रहे।

घर में घुसकर छेड़छाड़ करने का आरोप
ललितपुर। थाना बार क्षेत्र की एक युवती ने पुलिस अधीक्षक को भेजे गये शिकायती पत्र में कुछ लोगों पर घर में घुसकर छेड़छाड़ करने एवं गाली-गलौच व मारपीट करने का आरोप लगाया है। एसपी को दिये शिकायती पत्र में युवती ने बताया कि 6 सितम्बर को अपराह्न करीब 11.30 बजे जब वह अपनी बहन के साथ घर में थी। तभी जमीनी रंजिश को रखने वाले गांव के कुछ लोग अपने साथियों के साथ घर में जबरन घुस आये और बुरी नीयत से हाथ पकड़ लिया। चिल्लाने पर जान से मारने की धमकी देने का भी आरोप लगाया। युवती का कहना है कि उक्त लोग छेड़छाड़ करने के साथ कुछ और इरादे से भी घर में घुसे थे। लेकिन चीत्कार मचने पर आसपड़ौस में रहने वाले लोगों के एकत्र होने पर उक्त दबंग लोग भाग निकले। पीड़ित युवती ने पुलिस अधीक्षक से शिकायत दर्ज कराते हुये उक्त लोगों के खिलाफ कार्यवाही किये जाने की मांग की है।

छात्रवृत्ति वितरण व सम्मान समारोह कल
ललितपुर। वर्द्धमान एजुकेशनल चैरिटेबिल ट्रस्ट (रजि.)दिगम्बर जैन महासमिति संभाग उ.प्र. उत्तरांचल दिगम्बर जैन महासमिति वर्द्धमान महिला संभाग के संयुक्त तत्वाधान में आयोजित होने वाले प्रतिभाशाली छात्र-छात्राओं को छात्रवृत्ति वितरण एवं शिक्षक सम्मान समारोह को लेकर एक बैठक संपन्न हुई। बताया गया है कि आर्यिकारत्न पूर्णमति माताजी के ससंघ परम सान्निध्य में आयोजित होने वाला उक्त कार्यक्रम 13 सितम्बर को क्षेत्रपाल मंदिर में किया जा रहा है। जिसमें बतौर मुख्य अतिथि के रूप में डीएफओ वी.के.जैन मौजूद रहेंगे। जबकि विशिष्ट अतिथि के रूप में सम्पादक दैनिक विश्व परिवार झांसी प्रवीण जैनजैन समाज पंचायत समिति अध्यक्ष इंजी.अनिल जैन अंचलमहामंत्री डा.अक्षय टड़ैयासंयोजक प्रदीप जैन सतरवांसवरिष्ठ उपाध्यक्ष मीना जैन इमलिया व कोषाध्यक्ष मुकेश जैन सराफ होंगे। अध्यक्षता महेन्द्र कुमार सराफ द्वारा की जायेगी।





No comments:

Post a Comment