सरोकार की मीडिया

test scroller


Click here for Myspace Layouts

Wednesday, April 28, 2010

इनको ही दोस्त कहते है

उन ही को दोस्त कहते है


जो मुश्किल आसान बनाते है

जो दुश्मन को गिराते है

जो हसते और ह्साते है

उन को ही दोस्त कह्ते है

जो जीत की खुशी मनाते है

जो हार मे साथ बैठ्ते है

जो फिर भी कहना जानते है

उन को भला क्या कह्ते है

उन्ही को दोस्त कह्ते है

जो होते है खजाने हमारे लिये

जो होते है सितारे हमारे लिये

जो प्यार देते है प्यार लेने के लिये

उनको भला क्या कह्ते है

इन्ही को दोस्त कहते है

जिन की कीमत पता चलती है बिछड जाने के बाद

नहीं खरीदा जा सकता उन को पैसे से यार

ये है हमारे लिए खुदा का प्या र

इनको भला क्या कहते है

इनको ही दोस्त कहते है

No comments:

Post a Comment